Share market में गिरावट के कारण – शेयर बाजार में गिरावट के Top 6 मुख्य कारण

Share market में गिरावट के कारण – Share market  गिरने का कारण क्या है ,Share market गिरने के कारण – Share market  में गिरावट का कारण क्या है –आज के समय Share market  में इन्वेस्टमेंट करना जितना आसान हो चुका है उतना ही रिस्की है क्योंकि Share market  कभी भी ऊपर नीचे हो सकता है इसका असंतुलन काफी ज्यादा होता है इसकी वजह से ज्यादातर लोग Share market  में निवेश करने से बचते हैं या डरते हैं Share market  गिरने के कई कारण होते हैं जिनकी वजह से Share market  गिर जाता है 

यदि आप भी जानना चाहते हो कि Share market गिरने के कारण – Share market  में गिरावट का कारण क्या है दोस्तो आज इस आर्टिकल में आपको 6 ऐसे कारण जानने को मिलेंगे जिस कारण की वजह से market गिरता है।Share market में गिरावट के 6 कारण जानने इसीलिए जरूरी है क्योंकि अगर आपको ये पता होगा की Share  की कीमत में किस वजह से गिरावट होती है तो आप निवेश करने के लिए या Trade करने के लिए सही निर्णय ले पाएंगे।

 किसी भी इन्वेस्टमेंट या Trading का आधार है की आप सस्ते के खरीदेंगे और महंगा बेचेंगे या महंगा बेचेंगे और सस्ता खरीदेंगे तो आपको ऐसा करने के लिए पता होना चाहिए की किन कारणों की वजह से Share  बाजार गिरता है। Share market में गिरावट के कारण – Share market  गिरने का कारण क्या है 

Share market में गिरावट के कारण

Share market में गिरावट के कारण – Share market में गिरावट का कारण क्या है 

  1. इंटरनेशनल घटनाए | International incident 
  2. डिमांड और सप्लाय में परिवर्तन होना | Demand and supply 
  3. ग्लोबल market में गिरावट होना | Global market down 
  4. FII selling और DII selling 
  5. आर्थिक बदलाव होना
  6. बड़ी आपत्ति आना

 

Share market में गिरावट के 6 कारण – Share market Girne ke Karan 

 

1 इंटरनेशनल घटनाए – Share market में गिरावट का कारण 

Share market में गिरावट के कारण – युद्ध, आंतरिक संघर्ष, आतंकवादी हमला, इंटरनेशनल घटना, Share  market के सबंधित घोटाले और सरकार में क्रांतिकारी परिवर्तन से Share  के कीमतों पर और बाजार पर प्रभाव होता है । हम इसको प्रेडिक्ट नहीं कर सकते की कोई घटना होगी या नहीं, कोई घटना होने से market उपर जायेगा या नीचे जाए गा। साल 1998 का डॉट कॉम बबल ब्रस्ट होने से और 2002 में टेररिस्ट अटैक हुआ जिस वजह से market में बहोत बड़ा बदलाव आया था और इसकी वजह से ही 2008 में बहोत बड़ा market क्रैश हुआ था और पूरे विश्व में मंदी आ गई थी।

2 डिमांड और सप्लाय में परिवर्तन होना – Share market में गिरावट का कारण

डिमांड और सप्लाई में परिवर्तन होने के कारण market में बदलाव आ सकता है औरShare की कीमत ऊपर नीचे हो सकती है। आपने खेती में भी ये देखा होगा अगर किसी सब्जी या फल की डिमांड ज्यादा होती है और सप्लाय कम होती है तो उस सब्जी या फल की कीमत आसमान छू जाती है और अगर डिमांड कम है और सप्लाय ज्यादा है तो बहुत ही सस्ता बिकता है

 बिल्कुल ऐसा ही Share  में होता है जब किसी Share  की सप्लाई कम होती है लेकिन उसकी डिमांड ज्यादा होती है तब उन Share  की कीमत बढ़ जाती है और Share  की सप्लाई ज्यादा होती है और डिमांड कम होती है वो Share  की कीमत बहुत गिर जाती है। इसी तरह डिमांड और सप्लाय का Share  market में गिरावट का मुख्य कारण हो सकता है

3 ग्लोबल market में गिरावट होना – Share market में गिरावट का कारण 

ग्लोबल market में गिरावट के कारण हमारा भारतीय market बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में भी गिरावट हो सकती है आप सोच रहे होगे की ये कैसे?

ये इसीलिए होता है क्योंकि कई सारे बड़े बड़े विदेशी प्लेयर्स होते है जो करोड़ों रुपए भारतीय Share  market में निवेश करते है और ऐसे कई सारे प्लेयर्स होते है। जब ग्लोबल market गिरता है तब ऐसे विदेशी प्लेयर्स हमारे इंडियन market में Share बेचने लगते है जिसका भारतीय Share  market में बड़ा प्रभाव होता हैं।

और कई सारी ऐसी भारतीय कंपनी है जो विदेशी स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड होती है और जब विदेशी अर्थव्यवस्था गिरती है तब उस कंपनी के Share  भी गिरते है और इसका भारतीय market पर भी असर होता है ये Share  बाजार में गिरावट का मुख्य कारण भी है

 

4 FII selling और DII selling – Share market में गिरावट का कारण 

में आपको बता दू की FII का फुलफॉर्म है फॉरेन इंस्टिट्यूसनल इन्वेस्टर ये विदेशी संस्थागत निवेशक होते है जो इंडियन Share market में निवेश और Trading करते है 1991 में फॉरेन इंस्टिट्यूस्नल इन्वेस्टर को भारतीय market में निवेश और Trading करने की अनुमति दी गई थी। और DII का फुलफॉर्म है डोमेस्टिक इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स इसमें इंश्योरेंस कंपनियां, म्यूचुअल फंड हाउस, पेंशन फंड या प्रोविडेंट फंड्स जैसे संस्थान होते हैं जो निवेश और Trading करते है।

जब FII और DII के द्धारा सेलिंग की जाती है तब market गिरता नजर आ सकता है क्योंकि इन लोगो के पास बहुत सारे पैसे होते है और बड़ी बड़ी टीम और इंप्लॉय होते है जिससे market को फर्क पड़ता है और market गिरता है।

5 आर्थिक बदलाव होना – Share market में गिरावट का कारण 

देश के कुछ आर्थिक बदलाव के कारण market गिरता है जैसे अर्थव्यवस्था में गिरावट, ब्याज दर में बदलाव, कर्ज बढ़जाना, आर्थिक नीति में बदलाव, भारतीय रुपए का मूल्य बदलना, फाइनेंस में बदलाव ऐसे फेक्टर्स हैं जो डिमांड और सप्लाय को असर करते है जो Share  बाजार में गिरावट का कारण बनते है। ऐसे बनाव एक संभावना है जिसको को कोई नियंत्रित नही कर सकता। 

6 बड़ी आपत्ति आना – Share market में गिरावट का कारण 

ये तो आप सबको पता ही है की Coronavirus के कारण पूरे विश्व के market गिर गए थे ऐसे ही आपत्ति market को बहोत असर करती है अब ये कैसी आपत्ति है और market को किस तरह से असर करती ये हम पता नही लगा सकते। 

अगर में आपको Coronavirus के बारे में बात करू तो Coronavirus की वजह से इंपोर्ट और एक्सपोर्ट बंद हो गया था, पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ था इसलिए सारे बिजनेस बंध हो गए थे जिससे थोड़ा market गिरा और थोड़ा market गिरने से सब लोगो को ये लगता है की market बहोत गिरेगा और नुकसान हो जायेगा इसीलिए सब लोगShare बेचना शुरू करदेते है और ऐसे ही market गिरता जाता है।

 

Share market में गिरावट का कारण – निष्कर्ष 

दोस्तों इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद अभी तक आपने जाना की Share market में गिरावट के कारण – Share market  गिरने का कारण क्या है ,आशा करता हूं कि आपको शेयर मार्केट में गिरावट के कारण के बारे में अच्छी तरह से पता चला होगा 

यदि इस आर्टिकल में आपको कुछ भी मदद मिली हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट अवश्य करें अपनी राय अवश्य रखें जिससे हमें इस आर्टिकल में और भी सुधार करने में आसानी हो 

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment