[ National Stock Exchange] NSE kya hai – NSE क्या है ? NSE कैसे काम करता है

NSE kya hai in hindi- NSE [ National Stock Exchange] kya hai in hindi, Full form of NSE in Hindi ,NSE kya haiदोस्तों आज के इस लेख में हम बात करने वाले हैं कि Full form of NSE in Hindi  दोस्तों आज हमारे देश में Share market  का क्रेज बहुत ही ज्यादा बढ़ चुका है  ज्यादा से ज्यादा लोग Share  मार्केट में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं और ज्यादा से ज्यादा money  कमाना चाहते हैं  हमारे देश में सिर्फ 4% से 5% ही लोग भारतीय Share Market  में  इन्वेस्टमेंट करते हैं और अभी के समय पर लोग ज्यादा से ज्यादा इनवेस्टमेंट कर भी रहे हैं लेकिन उनके मन में यह  डर रहता है कि कहीं उनकी एक गलती के कारण उनका सहारा लगाया हुआ पैसा शेयर मार्केट में डूब ना जाए 

क्योंकि लोग Share market  में  किसी Stock broker  के साथ उत्तर तो जाते हैं लेकिन broker  उन्हें  stock exchange  की संपूर्ण जानकारी नहीं देता है और अपना प्रॉफिट सोचता है 

ऐसे समय में NSE  हर उस आम आदमी को भी शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने की सुविधा देता है जो उसके योग्य हो और अनुभवी हो तथा अपने पास में एक वित्तीय पूंजी रखता हो NSE India का   automated electronic trading system प्रदान करने वाला पहला  स्टॉक एक्सचेंज था 

दोस्तों इस से पहले हमने  BSE [Bombay Stock Exchange] kya hai in hindi  हिंदी में बताया है आप इसे जाकर पढ़ सकते हो और अपनी राय रख सकते हो 

 NSE kya hai in hindi - [नेशनल स्टॉक एक्सचेंज] NSE क्या है?

 NSE kya hai in hindi – [नेशनल स्टॉक एक्सचेंज] NSE क्या है?

NSE [national Stock Exchange ] संपूर्ण भारत के शेयर बाजार का एक बहुत ही बड़ा  वित्तीय बाजार है अर्थात फाइनेंशियल मार्केट है भारतीय शेयर मार्केट में  ट्रांसपेरेंसी  अर्थात पारदर्शिता लाने के  उद्देश्य  से सन 1992 में NSE  को स्थापित किया गया था इसकी भी स्थापना BSE  की तरह ही BOMBAY  मैं हुई है अर्थात मुंबई में इसकी स्थापना हुई है NSE India का automated electronic trading system प्रदान करने वाला पहला  स्टॉक एक्सचेंज था 

 

दरअसल बात ऐसी है कि BSE के नियम बहुत ही ज्यादा आसान थे और BSE के अंदर कोई सी भी कंपनी आसानी से आ सकती है और अपने कंपनी के शेयर बेच सकती है जबकि NSE  के अंदर ऐसा नहीं होता है BSE  के इसी कमजोरी की वजह से  सन 1992 में हर्षद मेहता नाम के एक स्टॉक ब्रोकर के द्वारा बहुत ही बड़ा फेरबदल किया गया जिसे बाद में  हर्षद मेहता स्कैम 1992  नाम दिया गया 

 

ऐसे स्कैम  पर रोक लगाने और शेयर मार्केट  के नियमों में कठोरता लाने के लिए NSE  की स्थापना की गई थी NSE  के अंदर  ट्रेड करना आसान नहीं होता  है किसी भी कंपनी को अपने शेयर NSE  के अंदर लिस्ट करने के लिए  कंपनी को ब्रोकर के माध्यम से SEBI  के द्वारा अनुमति लेनी होती है  और एक बहुत कागजी  की कार्रवाई करनी पड़ती है आज NSE  के अंदर दो हजार से ज्यादा कंपनियां लिस्टेड है और यह सारी कंपनियां SEBI  के द्वारा नियंत्रित की जाती है 

NSE Full Form ?

NSE Full Form Is = National Stock Exchange of India.

NSE Full form in hindi – NSE की फुल फॉर्म हिंदी में 

 NSE  की फुल फॉर्म होती है  [ National Stock Exchange] और यह मुंबई में स्थित है  यह मार्केट कैप के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी स्टॉक एक्सचेंज है 

 

NSE Full detail In Hindi – National Stock Exchnage of India in Hindi ?

  •  NSE Established        1992 
  •  NSE Type                   Stock Exchange 
  •  NSE Location             Mumbai, India
  • Owner in India   National Stock Exchange Of India Limited 
  •  NSE Chairman           Girish Chandra Chaturvedi 
  •  NSE CEO & MD         Vikram Limaye 
  •  NSE Currency            Indian rupees INR 
  • Indices                NIFTY 50 
  •  Market cap         US dollar  2.27Trillion (2018)
  • Official website     https://www.nseindia.com/

यह सारा डाटा गूगल से लिया गया है अतः  इसमें समय के साथ बदलाव हो सकते हैं 

 

NSE का क्या मतलब होता है – What is NSE in Hindi?

यह एक stock exchange है इसका पूरा नाम “नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया” लिमिटेड है इसे भारत का सबसे बड़ा वित्तीय बाजार माना जाता है. यह दुनिया के टॉप 10 शेयर मार्किट में एक है. इसकी स्थापना 1992 में हुई थी. भारत में इसका सबसे पहले भारत के मार्किट में इलेट्रॉनिक ट्रेडिंग में सुरु हुआ.

 

 NSE market capitalisation in Hindi  : NSE का मार्केट केपीटलाइजेशन कितना है 

NSE का विस्तार भारत के अंदर  1500  से अधिक शहरों में है अर्थात NSE  का बिजनेस भारत के  1500  से अधिक शहरों में फैला हुआ है और यह भारत  के वित्तीय बाजार की मेरुदंड अर्थात रीड की हड्डी मानी जाती है

2018 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार NSE [national Stock Exchange ] की मार्केट वैल्यू  1.80 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर थी आज इसका वैल्यू  110 लाख करोड़ से भी ज्यादा है 

NSE  [national Stock Exchange ] के स्थापित होने  का फायदा यह हुआ है कि ट्रेडिंग और  खरीद फरोख्त की सारी प्रक्रिया अब automated electronic trading system  के द्वारा होती है यह बहुत ही आसान है इसी कारण अब ज्यादा से ज्यादा लोग इसमें अपना इंटरेस्ट दिखाते है 

 जब पहले लोग शेयर को खरीदते थे तब कागजों के माध्यम से लेनदेन हुआ करते हैं  एक कागज को दूसरी जगह पर पहुंचाने मैं लगभग महीने 2 महीने लग जाया करते थे और यह प्रक्रिया बहुत ही लंबी हुआ करती थी 

 

 

NSE के कारण Share Market में क्या सुधार हुआ 

 शुरुआत में NSE  एक प्राइवेट कंपनी के रूप में शेयर मार्केट में लिस्ट हुई थी  उस समय नई नई कंपनी बहुत आ रही थी  इसी समय 1992  हर्षद मेहता स्कैम हो गया  अब भारत सरकार ने ऐसे स्कैम  को रोकने के लिए  SEBI { Securities and exchange Board of India} नामक  एक संस्था का गठन किया 

SEBI को भारत सरकार ने  वित्तीय बाजार पर नजर रखने के लिए बनाया था और  शेयर मार्केट के अंदर अमेरिकी बाजार के नियम लागू कर दिए  और शेयर बाजार  को थोड़ा मजबूत बनाया 

जब BSE  के निवेशकों को BSE  पसंद नहीं आया तो सभी ने मिलकर NSE को स्थापित किया और इसमें बहुत ही महत्वपूर्ण सुधार किए  जैसे ऑनलाइन ट्रेडिंग सिस्टम और कागज का इस्तेमाल बहुत ही कम  जो काम पहले  बहुत ही लंबे समय में हुआ करते थे अब वह सिर्फ 5 मिनट में हो जाया करते थे और लोगों को बहुत ही ज्यादा फायदा होने लगा और ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ने लगे 

BSE ने SEBI  को एक बहुत ही लंबे समय तक  लगभग  तीन-चार साल तक  नहीं अपनाया था लेकिन साल 1995 में उसे अपनी सारी कंपनी SEBI  में लिस्ट करवानी पड़ी 

 

NSE के  स्थापित होने का उद्देश्य क्या है : What is a motive  of NSE

NSE के स्थापित होने का मुख्य उद्देश्य यह था कि भारत के शेयर मार्केट के अंदर  किसी भी एक कंपनी के  एकाधिकार  और अर्थात  मोनोपोली  को समाप्त करना था और बाजार को एकदम सुव्यवस्थित तरीके से संचालन करना था

क्योंकि BSE  के अंदर हर कोई कंपनी आकर लिस्ट होती और अपने शेयर बाजार में बेचकर कभी भी वह भाग सकती थी ऐसे ही करके  1 – 2  स्कैम और भी हो गए थे इसी के चलते हैं भारतीय वित्तीय बाजार को बहुत ही बड़ा घाटा हुआ  और निवेशकों का BSE  6 मोहभंग हो गया 

 अब ऐसे में NSE  की बहुत ही ज्यादा आवश्यकता थी NSE SEBI के अंतर्गत अपना कार्य कर रही थी  आज NSE  सबसे ज्यादा ट्रेडिंग होती है और यह सारी ट्रेडिंग पेपरलेस अर्थात डिजिटल माध्यम के द्वारा होती है और यह एक बहुत ही अच्छा कदम था 

NSE के स्थापित होने का एक मुख्य उद्देश्य यही था कि हर एक आम आदमी तक  शेयर मार्केट की पहुंच बनाना और शेयर की खरीदारी की प्रक्रिया एकदम बहुत ही छोटी बनाना जिसके कारण एक व्यक्ति दिन के अंदर बहुत सारी खरीदारी कर सकें  और उससे  ट्रेडर  की आमदनी बढ़ेगी 

 

NSE का  Index benchmark क्या है : NSE Benchmark in Hindi


NSE [national Stock Exchange ] का Index benchmark अर्थात सूचकांक NIFTY  है NSE  में NIFTY की शुरुआत  1996 से हुई थी NIFTY के अंदर nse के टॉप  50 कंपनियों को शामिल किया गया है  इसे nifty 50 भी कहते हैं यह nse  का एक बेंच मार्क  सूचकांक अर्थात  इंडेक्स बेंच मार्क है 

NSE  में इन्वेस्टमेंट करना महत्वपूर्ण क्यों है  

दोस्तों NSE  की स्थापना  एक  ही कंपनी  का  एकाधिकार रोकने के लिए की गई थी NSE  में  इन्वेस्ट करना BSE  की तुलना में बहुत ही ज्यादा आसान है और यहां पर कुछ भी पेपर वर्क नहीं होता है

 सारा कार्य ऑनलाइन होता है और हम इसमें ज्यादा से ज्यादा ट्रेडिंग करके ज्यादा से ज्यादा प्रॉफिट की कमाई कर सकते हैं 

NSE भारतीय सरकार के संगठन SEBI { Securities and exchange Board of India}  के द्वारा बनाए गए कानून के अंतर्गत आता है अर्थात SEBI  द्वारा मान्यता प्राप्त है 

पूरे विश्व के वित्तीय बाजार के  लिहाज से देखा जाए तो NSE  पूरे विश्व के शेयर मार्केट में 11 th  स्थान रखता है  मतलब यह विश्व के  शेयर मार्केट में 11 स्थान रखता है 

आज के समय nse  के अंदर इन्वेस्ट करना इसलिए आवश्यक है क्योंकि यह भारतीय सरकार द्वारा बनाए गए नियमों को  बराबर से  फॉलो करती है और  इसमें कोई भी कंपनी आसानी से लिस्ट नहीं हो सकती है उनका एक निश्चित प्रक्रिया होता है और उनका एक क्राइटेरिया होता है

 इसमें इन्वेस्टमेंट किए गए पैसे  का   घोटाले की स्थिति में कोई भी डर नहीं रहता क्योंकि sebi  के कारण यह बहुत ही विश्वसनीय है 

 

Conclusion 

दोस्तों आपने आज  के  इस  हिंदी   आर्टिकल के माध्यम से जाना कि  Full form of NSE in Hindi ,NSE kya hai [ National Stock Exchange] Kahan per hai ,NSE and BSE In Hindi ,  National Stock Exchange क्या है जानिए हिंदी में NSE किस प्रकार कार्य करता है  शेयर मार्केट में NSE  का महत्व क्या है 

आपको इसे हिंदी लेख के माध्यम से बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई होगी आप हमारे इस  हिंदी आर्टिकल को  अपने रिश्तेदारों,  दोस्तों, और ग्रुप में शेयर करें ताकि उनको भी यह महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment