Market cap क्या होता है ? Market cap meaning in Hindi|Market cap Calculate कैसे करें

Market cap क्या होता है ,Market capitalisation Kya Hota Hai In Hindi – Market cap meaning in Hindi , Market cap kya hai दोस्तों यदि आप Indian share market  में इन्वेस्ट करते हो यह आप कोई भी सामान्य व्यक्ति हो तो आपने अक्सर Newspaper  में या किसी न किसी तरीके से मार्केट केपीटलाइजेशन के बारे में अवश्य सुना होगा कि टाटा मोटर्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटल इतना हो गया है तो आपके मन में अवश्य प्रश्न उठा होगा कि Market cap kya hai  (What is market capitalisation in Hindi ) Market cap kya hai   Market cap meaning in Hindi  क्या होती है  

दोस्तों इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक अवश्य पढ़ें इसमें आप जानने वाले  हो की Market capitalisation kya hai ,Market cap meaning in Hindi Market cap की गणना कैसे होती है Large  , Small , एंड Mid Market cap  क्या है , चलिए जानते हैं कि  मार्केट कैप क्या होता है 


Market cap क्या होता है ? Market cap Calculate कैसे करें - meaning in Hindi

Market capitalisation  क्या होती है  -(What is market cap in hindi)

Market cap क्या होती है Market cap kya hai   – किसी भी कंपनी के मार्केट कैप का सीधा मतलब उस कंपनी के टोटल मार्केट वैल्यू से होता है वैसे मार्केट कैप कंपनी के  मार्केट केपीटलाइजेशन का शॉर्ट फॉर्म होता है  मार्केट केपीटलाइजेशन के बारे में जानने से पता चलता है कि वर्तमान समय में उस कंपनी की वास्तविक कीमत कितनी है अर्थात मार्केट कैप कितना है यह मार्केट क्या है शेरों के उतार-चढ़ाव के साथ में ही करता और बढ़ता रहता है 

क्योंकि किसी भी कंपनी के शेयर आम जनता के बीच में खरीद फरोख्त होते रहते हैं इसलिए उनके शेयरों के वहां पे कभी भी उतार-चढ़ाव आ सकता है और वह मार्केट कैपिटल को प्रभावित कर सकता है 

 

 

Market capital की गणना कैसे करें – How to calculate market cap 

Market cap Calculate कैसे करेंदोस्तों किसी भी कंपनी के Market capitalisation  की गणना (Calculation)  करनी है तो आपको उसके प्रत्येक या फिर एक  शेयर की कीमत के बारे में जानना पड़ेगा और उसे कंपनी के द्वारा जारी किए गए Total shares   से गुणा करना पड़ेगा इससे आपको उसकी Actual market capitalisation  के बारे में पता चलता है

जैसे Reliance company  के शेयर की कीमत ₹200 है  और वह 20000 शेयर जारी करता है तो उसकी Total value  200 * 20000 = 4000000 

 

Market capital calculation formula In Hindi 

Market cap formula in Hindi  = MC = N*P 

Market capitalisation formula in Hindi  में MC =  का मतलब Total market cap  होता है

और N = किसी भी कंपनी के द्वारा जारी किए गए Total shares  की संख्या होती है 

P = यहां पर P  का मतलब किसी भी कंपनी के द्वारा जारी किए गए Total shares  में एक शेयर की कीमत होती है 

 

दोस्तों जब 9:30 a.m.  इंडियन शेयर मार्केट खुलता है  तब किसी भी कंपनी के शेयरों में उतार-चढ़ाव आ सकता है और उसकी मार्केट केपीटलाइजेशन में भी वृद्धि और कमी हो सकती है क्योंकि मार्केट केपीटलाइजेशन अक्सर  करंट शेयर प्राइस पर निर्भर करते हैं 

 

 

Market cap में उतार-चढ़ाव कैसे होता है – How to fluctuations in market cap

दोस्तों जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके हो कि  किसी भी कंपनी के मार्केट केपीटलाइजेशन के उतार-चढ़ाव में  उस कंपनी द्वारा जारी किए गए शेयर्स की बहुत ही अहम भूमिका होती है

 जैसे  किसी कंपनी के परफॉर्मेंस को देखते हुए यह संभावना लगाई जाती है कि यह कंपनी भविष्य में बहुत ही अच्छा मुनाफा देने वाली है तो ऐसे में शेयर मार्केट में लोग ज्यादा से ज्यादा उस कंपनी के शेयर खरीद कर उसमें हिस्सेदारी चाहते हैं जिससे  उस कंपनी के मार्केट कैपिटल में वृद्धि होती है

 जबकि कभी-कभी ऐसा भी होता है कि मार्केट में  किसी कंपनी की परफॉर्मेंस बहुत ही निम्न स्तर की होती है और लोग सोचते हैं कि मेरा रुपया इसमें डूब सकता है तो इसलिए वे उस कंपनी के शेयर्स को अधिकाधिक बेचकर अपना रुपए निकालने की सोचते हैं ऐसे में उस कंपनी के मार्केट कैपिटल घट जाता है 

दोस्तों किसी भी कंपनी का मार्केट कैपिटल मार्केट ट्रेंड के हिसाब से घटता और बढ़ता रहता है इसमें इन्वेस्टमेंट करने के लिए आपको सही समय पर और सही  कंपनी का चुनाव करना होता है 

Market cap का वर्गीकरण  In Hindi – Types of market capitalisation in Hindi 

दस्तों मार्केट कैपिटल की गणना और किसका मापन समय-समय पर बदलता रहता है और अलग-अलग देश में अलग-अलग प्रकार की गणना की जाती है  जैसे यूएसए और यूरोपियन देशों में मार्केट कैपिटल की गणना अलग-अलग होती है जबकि भारत में मारपीट कैपिटल की योजना अलग-अलग होती है 

Floating Market cap क्या होती  है – What is floating market cap 

Floating Market cap in Hindiदोस्तों कभी कभी कोई भी Company  अपने  कंपनी के जारी किए गए सभी चैस को शेयर मार्केट में ओपन ली खरीदने और बेचने के लिए उपलब्ध नहीं करती है उनका एक हिस्सा अपने पास सुरक्षित रख लेती है अर्थात अपनी कंपनी के Shares से कुछ ही Shares  को  Share market  में उतारती है

किसी कंपनी के ऐसे  shares जो शेयर मार्केट में उतारे जाते हैं उन्हें Floating  shares कहा  जाता है इसलिए ऐसे Floating shares  की टोटल गणना करके निकाली गई Market cap  को Floating Market cap  कहा जाता है 

 

Large market cap क्या होती है – What is large market cap company 

Large market cap क्या है  – दोस्तों आज मार्केट कैप को अलग-अलग देशों में अलग-अलग हिसाब से अकाउंट किया जाता है जैसे अमेरिका में और यूरोपियन देशों में लगभग 10 बिलियन डॉलर से अधिक मार्केट कैप वाली कंपनियों को  लार्ज  मार्केट कैप में रखा जाता है 

Worlds largest market cap companies list in Hindi – दुनिया की 10 सबसे बड़ी  market cap वाली company List  

1. Apple company 

2.    Microsoft company 

3.    Amazon company 

4.    Alphabet company 

5.    Facebook 

6.    Tencent Company 

7.    Tesla company 

8.    Alibaba groups

9.    Tsms 

10. Berkshire Hathaway

 World’s best 10 large market capital कंपनी के बारे में विस्तार से जाने – Visit website 

 

जबकि भारत में सेबी के द्वारा बनाए गए नियमों के अंतर्गत टॉप 100  में  अपनी जगह बनाने वाली कंपनियां लार्ज मार्केट कैप के अंतर्गत  आती हैं 

भारत के अंदर Reliance Industries, Tata Industries, Mahindra Tech,Etc कंपनियां लार्ज कैप के अंतर्गत आती है 

 

Mid market cap  क्या होती  है –  what is mid market cap company 

Mid market cap meaning in Hindi  – दोस्तों भारत में लगभग 5000 करोड से अधिक तथा 20000 करोड से नीचे की मार्केट वैल्यू वाली कंपनियों को विद मार्केट कैप के अंतर्गत रखा जाता है इन कंपनियों की पोजीशन 101  रैंक से लेकर 250  रैंक  तक हो सकती है 

भारत में ऐसी कई सारी कंपनियां हैं जो कि मिड मार्केट कैप के अंतर्गत आती है 

 

 small Market cap क्या होती है  – What is small market cap company  

Small market cap क्या होता है  – दोस्तों भारत में सेबी की तरह अपना आएगा अधिनियम के अंतर्गत जो कंपनियां 5000 करोड़ रुपए से कम बिलीव की होती है उन्हें स्मॉल मार्केट कैप कंपनियों के अंतर्गत रखा जाता है

स्मॉल मार्केट कैप कंपनियों की रैंक 251 रैंक से ऊपर ऊपर होती है भारत में ऐसी कई सारी कंपनियां हैं जो कि स्मॉल मार्केट कैप के अंतर्गत रखी जाती हैंऔर अभी अभी नए नए स्टार्टअप्स भी होते जा रहे हैं

 

Market cap  महत्वपूर्ण क्यों है – Importance of market cap

Importance of market capitalisation in Hindi दोस्तों यदि आप भी किस शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करते हो या करना चाहते हो करने के इच्छुक हो तो आपको भी मार्केट कैप के बारे में जानना बहुत ही आवश्यक है किसी भी कंपनी के लिए मार्केट कैप इसलिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि वह उस कंपनी के वास्तविक मूल्य को दर्शाता है 

तथा हम किसी भी कंपनी के मार्केट कैप को जानकर उन दो कंपनियों के बीच में हम तुलना करके अपना पैसा किसी अच्छी कंपनी में लगा सकते हैं जहां से हमें अच्छा रिटर्न मिल सकता है शेयर मार्केट में यही देखने को मिलता है कि जितना ज्यादा मार्केट कैपिटल उतना ही अच्छा रिटर्न वह भी बिना किसी रिस्क के साथ  

              Conclusion

दोस्तों अभी तक आपने जाना की Market capitalisation क्या होती है  , Market capitalisation की गणना कैसे करें   , Mid market cap small market cap क्या होती है , दोस्तों आशा करता हूं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा और इस लेख से आपको मार्केट केपीटलाइजेशन के बारे में पर्याप्त जानकारी मिली होगी 

दोस्तों यदि आपको इस लेख मैं अपनी राय रखनी है तो या कुछ भी प्रश्न पूछने है तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट अवश्य करें और इस लेख को अपने दोस्तों फ्रेंड सर्कल तथा व्हाट्सएप ग्रुप्स और फेसबुक ग्रुप में अवश्य शेयर करें जिससे उनको भी इस महत्वपूर्ण जानकारी की प्राप्ति हो 

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment