stock market में हेजिंग क्या है ? शेयर मार्केट में हेजिंग क्या होता है 

stock market में हेजिंग क्या है | शेयर मार्केट में हेजिंग क्या होता है Hedging kya hai ,Hedging in Hindi, Hedging ke fayde kya kya hai ,Hedging benefit in Hindi stock market में हेजिंग क्या है | शेयर मार्केट में हेजिंग क्या होता है  -दोस्तों अपने Hedging का नाम अवश्य सुना होगा तो आपने कभी ना कभी सोचा होगा कि Hedging क्या होता है यह जिंक किस प्रकार किया जाता है और Hedging के क्या-क्या फायदे होते हैं चलिए जानते हैं विस्तार से Hedging क्या है और किस प्रकार किया जाता है 

हेजिंग क्या है

विषय सूची

stock market में हेजिंग क्या है | शेयर मार्केट में Hedging kya hai

Hedging हेजिंग पावरफुल टूल है। 99% Tradeर्स इस टूल का उपयोग करते है फिर वो FII हो DII हो कोई हाउसिंग फंड हो या कोई बड़ा Tradeर सब लोग हेजिंग का उपयोग करते है। हेजिंग एक सीक्रेट है Share market में सक्सेसफुल होने का क्योंकि हेजिंग हमारे risk  को बहुत ज्यादा कम करदेता है। हेजिंग market के उतार चढ़ाव की वजह से होनेवाले नुकसान से बचने का तरीका है।

 

हेजिंग क्या होता है | Hedging kya hai

हम आपको बताएंगे की आपने अपनी लाइफ में कम से कम एकबार जरूर हेजिंग का उपयोग किया है Share market में किया हो या न किया हो लेकिन आपने अपनी लाइफ में हेजिंग का उपयोग किया ही होगा में आपको 

हेजिंग का एक उदाहरण बताता हूं। मान लीजिए की आप किसी व्यक्ति को पैसे उधार देते है और उसके बदले में उसकी कोई चीज ले लेते हो जैसे की आपने 50,000 रुपए उधार दिया और आपने उसकी बाइक अपने पास रख ली ताकि वो व्यक्ति पैसा लौटा नही पाया तो आप उसकी बाइक बेच कर कुछ पैसे जुटा सकते है यहां आपने 50,000₹ के risk  को हेज किया इसे ही हेजिंग कहते है। 

मान लीजिए की आप 25,00,000₹ की कार लेते हो और उसके साथ कार का इंश्योरेंस लेते हो ताकि गाडी को कुछ नुक्सान या चोरी हो जाए तो आपने जिस कंपनी का इंश्योरेंस लिया है वो कंपनी से आपको पैसे या गाड़ी मिले। यहां आप चाहते नही हो की मेरी बाइक चोरी हो या एक्सीडेंट हो लेकिन अगर ऐसा कुछ होता है तो आपको उसका बदला मिले इसीलिए आप प्रीमियम भरते है यहां भी आपने अपने कार नुकसान के risk  को हेज किया।

हेजिंग का ज्यादातर उपयोग ऑप्शन Trading में होता है जहा आप ओवर नाइट risk  लेते हो क्योंकि दूसरे दिन क्या होगा और market कहा ओपन होगा इसकी कोई गेरेंटी नही है क्योंकि अगर आपके Trade के अपोजिट market ओपन होता है तो आपका पूरा पैसा डूब सकता है। इस ओवर नाइट risk  को कम करने के लिए लोग हेजिंग करते है ताकि दूसरे दिन market कैसे भी ओपन हो लेकिन ज्यादा loss ना हो।

 

Put Option में हेजिंग कैसे करे | Put option main Hedging kaise karen 

मान लीजिए की nifty 50 18500 पर चल रहा है और हमे लगता है की nifty 18500 से और भी ज्यादा उपर जायेगा इसीलिए हम nifty 14400 के Put को 200₹ की कीमत पर sell कर रहे है। अब यहां पर अचानक अगर market नीचे गया तो हमारा ज्यादा loss हो जायेगा इसीलिए हम हेजिंग करेंगे। 

nifty50 18500 है हमे लगता है की market उपर जायेगा इसीलिए हमने nifty 18400 के put को 200₹ की कीमत पर sell किया है और इसके loss से बचने के लिए हम nifty 18300 के put को buy करेंगे जिसकी कीमत 160 है अगर हम पूरी Trade को कैलकुलेट करे तो हमने 18400 के put को 200₹ में sell किया इसीलिए हमे 200₹ मिल गए और 18300 के put को buy किया जिसके 160₹ दिए मतलब 200-160=40, हमे पूरी Trade के बदले 40₹ मिले ये 40₹ हमारे मैक्सिमम Profit है 

यानी अगर nifty50 18500 पर या 18500 के ऊपर रही तो हमे एक Share पर 40₹ का Profit होगा और अगर मानलीजिये की market बहुत ही ज्यादा गिर गया nifty50 17500 हो गया फिर भी हमे loss एक Share पर 60₹ का ही होगा जबकि हम हेजिंग नही करते तो एक Share पर 200₹ का Profit हमे होता और बिना हेजिंग के loss तो हमे अनलिमिटेड हो सकता है।

 

Call Option में हेजिंग कैसे करे | Call option hedging kaise kare

मान लीजिए की nifty50 18500 पर चल रहा है और हमे लगता है की nifty 18500 से और भी ज्यादा नीचे जायेगा इसीलिए हम nifty 14400 के Call को 200₹ की कीमत पर sell कर रहे है। अब यहां पर अचानक अगर market उपर गया तो हमारा ज्यादा loss हो जायेगा इसीलिए हम हेजिंग करेंगे। 

nifty50 18500 है हमे लगता है की market नीचे जायेगा और इसीलिए हमने nifty 18600 के call को 240₹ की कीमत पर sell किया है और इसके loss से बचने के लिए हम nifty 18700 के call को buy करेंगे जिसकी कीमत 190 है अगर हम पूरी Trade को कैलकुलेट करे तो हमने 18600 के call को 240₹ में sell किया 

इसीलिए हमे 240₹ मिल गए और nifty 18700 के call को 190₹ में buy किया इसीलिए हमने 190₹ दिए मतलब 240-190=50, हमे पूरी Trade के बदले 50₹ मिले ये 50₹ हमारा मैक्सिमम Profit है यानी अगर nifty50 18500 पर या 18500 के ऊपर रही तो हमे एक Share पर 50₹ का Profit होगा

 और अगर मानलीजिये की market बहुत ही ज्यादा उपर गया nifty50 19500 हो गया फिर भी हमे loss एक Share पर 50₹ का ही होगा जबकि हम हेजिंग नही करते तो एक Share पर 240₹ का Profit होता और loss हमे अनलिमिटेड हो सकता था।

Future Trading में हेजिंग कैसे करे | Future trading hedging kaise karen 

मान लीजिए की हमने  Nifty 18000 का future खरीदा हुआ है और हमे ऐसा लगता है की market और भी ज्यादा उपर जायेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और market नीचे गया तो हमे loss हो सकता है इसीलिए हम इसे हेज करना चाहते है तो इसे हेज कैसे करे? इसे हेज करने के लिऐ हम 17900 का put option ले सकते है जिससे अगर market gep down खुला तो put की कीमत बढ़ती रहेगी और अगर market gep up खुला तो हमे Profit होगा लेकिन कम Profit होगा।

अगर हमे लगता है की Nifty 18000 का future खरीदा है वो और भी ज्यादा नीचे जायेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और market उपर गया तो भी हमे loss हो सकता है इसीलिए इसे हेज करने के लिऐ हम 18100 का call option ले सकते है जिससे अगर market gep up खुला तो call की कीमत बढ़ती रहेगी और अगर market gep up खुला तो हमे Profit होगा लेकिन कम Profit होगा।

 

हेजिंग करने से फायदे क्या होते है | Hedging benefits in Hindi 

 

हेजिंग की मदद से risk  कम और लगातार Profit बना सकते है

हेजिंग करने से Profit थोड़ा कम होता है लेकिन risk  बहोत कम हो जाता है। शेयर बाजार में जो नए Tradeर है वो सोचते हैं की हम Share market से 50% या 100% बनाए मेने Trading स्टार्ट किया था तब में भी ऐसी बात हो सोचता था लेकिन जो बड़े Tradeर्स, FII ,DII या म्यूचुअल फंड है उसके लिए साल में 20% से 25% तक का Profit उसके लिए अच्छा है 

अगर उसको टोटल कैपिटल पर 20% से 25% मिलता है तो वो साल उसके लिए काफी अच्छा है अगर हम शेयर market से ज्यादा रिटर्न लेना चाहे हम 100% या 200% का Profit बनाना चाहे तो ये भी पॉसिबल है लेकिन इसमें risk  बहुत ही ज्यादा है और को बड़े प्लेयर है उसके पास काफी सारा पैसा होता है इसीलिए वो बहुत ज्यादा risk  नहीं लेते है।

हेजिंग का उपयोग से आप कांसिस्टेंट Profit बना सकते है

शेयर market में कांसिंस्टंस Profit होना ज्यादा जरूरी है क्योंकि बड़े Profit रोज नही होते है एक दिन आप 50% का Profit बनाएंगे तो दूसरे दिन 70% का loss होगा और अगर आप ऐसे आप कुल मिलाकर एक साल का देखेंगे तो आपको नुकसान ही नजर आएगा। हेजिंग के उपयोग से हमें थोड़ा सा Profit कम जरूर होता है लेकिन कम Profit कंसिस्टेंटली बना सकते हैं हा मान लें कि आप हेजिंग की मदद से एक महीने का 2% से 6% बनाते है तो वो Profit आपको लगातार होगा ये हेजिंग का बहोत बड़ा फायदा है।

हेजिंग के उपयोग से आप कोई बड़े मूवमेंट से बच सकते है

मान लीजिए की अगर आपने कोई कंपनी का Call खरीदा हुआ है और अचानक न्यूज आती है की वो कंपनी ने फ्रॉड किया या उस कंपनी पर आतंकवादी हमला हुआ तो आपका बहोत ही बड़ा नुकसान हो जायेगा अब आप सोच रहे होगे की हम stop loss लगाकर काम करते है। लेकिन कई बार stop loss भी काम नहीं करता है

 मन लीजिए की आपने बैंकनिफ्टी का 37000₹ का coll होल्ड किया है और market बंद होने पर बैंक निफ्टी 37050₹ पे बंध हुई और आपका stop loss था 36850 दूसरे दिन कोई न्यूज आए की आतंकवादी में हमारे देश में हमला किया जिसकी वजह से market लोवर सर्किट पे खुला अब यहां stop loss भी काम में नही आयेगा और बहोत बड़ा नुकसान हो जायेगा लेकिन यहां हेजिंग से बहुत फायदा होता है।

 

हमारा loss होने का डर खत्म होजता है

हेजिंग का उपयोग करने से आपका डर बिलकुल खत्म जायेगा क्योंकि हेजिंग में पहले से ही आपको पता होगा के loss फिक्स है जब हम कोई Trade लेते है तब हमे लगता है की Trade गलत गया इसको में स्क्वायरऑफ करदू लेकिन हेजिंग में market चाहे कही भी क्यों ना जाए इससे आप अपने Trade को लंबे समय तक पेसन ने साथ होल्ड कर पाते हैं जिससे आपको Profit भी हो सकता है।

प्रोफेसनल Tradeर्स हेजिंग का उपयोग करते है

जो बड़े Tradeर्स है वो लोग हेजिंग का उपयोग करते है जो FII,DII या कोई फंड सब जो प्रोफेसनल Tradeर्स है वो लोग हेजिंग का उपयोग करते है।

हेजिंग करने से नुकसान क्या होता है | Hedging disadvantage in Hindi 

हेजिंग हमारे Profit को कम करता है

हेजिंग का उपयोग करने से आपका Profit काफी कम हो जाएगा ये एक हेजिंग का नुकसान है लेकिन नुकसान सिर्फ एक ही है और फायदे आपको कई सारे हो रहे है ये आपको ध्यान में रखना चाहिए।

कब हेजिंग करने की जरूरत नहीं है

अगर हम Intraday Trading करते हैं और stop loss भी सही से लगाते हैं तो हमें यह पर हेजिंग करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि हमने stop loss लगाया हो है market गिरेगा तो stop loss हमे बचा लेगा और Intraday Trading है इसीलिए market बंद होने से पहले हमे स्क्वेयर ऑफ करना होता है यहां हमे हेजिंग करने की कोई जरूरत नहीं है

कब हेजिंग करने की जरूरत है

जब हम ओवरनाइट risk  लेते है और खास कर ओपन में तब हमे जरूर हेजिंग करना चाहिए। लगभग सारे तो Trading फर्म होते है वहा पर ये रूल होता है और अगर कोई बिना हेजिंग के Trade करता है तो उसे जॉब से निकल देते है आप समझ रहे होगे की कितना इंपोर्टेंट है हेजिंग बिना हेजिंग के ओपन हमे पूरा खा जाते है हेजिंग एक सुरक्षा कवच की तरह काम करता है।

 

Hedging in Hindi  – निष्कर्ष 

दोस्तों अभी तक हमारा लेख पढ़ने के लिए धन्यवाद अभी तक आपने जाना की Hedging kya hai ,Hedging in Hindi, Hatching ke fayde kya kya hai ,Hedging benefit in Hindi Hedging के क्या-क्या फायदे होते हैं आशा करता हूं कि आपको यह लेख अच्छा लगा होगा और इससे आपको अवश्य कोई नहीं कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment