Demat account क्या है? Demat account open कैसे करें – Demat account in hindi

Demat account क्या है? Demat account open कैसे करें – Demat account in hindi,  How to open Demat account  in Hindi , Demat account के फायदे क्या क्या है  , Demat account कितने प्रकार के होते हैं, Demat account  के प्रमुख उद्देश्य क्या क्या हैं Demat account  के लाभ क्या क्या है सब कुछ जानने वाले हैं

दोस्तों जब भी आप किसी शेयर मार्केट के बारे में सुनते होंगे या आप भी शेयर मार्केट के अंदर इन्वेस्टमेंट करने के लिए सोच रहे होंगे तो  आपके सामने Demat account   का नाम अवश्य आया होगा तो आपने भी सोचा होगा कि Demat account kya hai और Demat account kaise open करें और Demat account काम कैसे करता है आपने इसके लिए ऑनलाइन सर्च किया होगा तो आपको यूट्यूब पर कई सारी वीडियो मिल गई और Googleपर कई पोस्ट मिल गई होंगी 

लेकिन आपको वह सारा कुछ अंग्रेजी में मिला होगा आज हम आपको हिंदी में बताने वाले हैं की Demat account kya hai  aur Demat account kaise khole, How to open Demat account  in Hindi , Demat account के फायदे क्या क्या है  , Demat account कितने प्रकार के होते हैं,  चलिए जानते हैं 

Demat account ओपन करने के लिए आपको pan कार्ड बनाना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि इसके बिना Demat account ओपन नहीं होता है 

Demat account क्या होता है? Demat account open कैसे करें

Demat account kya hai in Hindi –  डीमैट अकाउंट क्या है इन हिंदी

दोस्तों आपको शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने से पहले यह जानना बहुत ही आवश्यक है कि  What is Demat account in Hindi अर्थात Demat account क्या  है  हिंदी में चलिए जानते हैं

दोस्तों जिस प्रकार आप अपनी कमाई का पैसा अपने एक बैंक खाते में रखते हो उस बैंक के खाते से आप लेनदेन करते होऔर उस बैंक खाते को ओपन कराने के लिए आप बैंक जाते हो तथा अपना जरूरी डिटेल जैसे पैन कार्ड आधार कार्ड और पहचान पत्र तथा अपनी कमाई का जरिया आदि का ब्यौरा किसी बैंक में देना पड़ता है  ऐसे ही हम किसी भी बैंक अकाउंट से किसी व्यक्ति को रुपए ट्रांसफर कर सकते हैं

ठीक इसी प्रकार से कुछ ऐसा ही होता है Demat account  क्योंकि हम इस Demat account  के  हमारे द्वारा stock Exchange से खरीदे गए किसी भी कंपनी के शेयर को हम हमारे इस Demat account  के अंदर जमा करके रख सकते हैं और कभी भी समय आने पर हम निकाल सकते हैं  किसी को जरूरत पड़ने पर हम  यह डिजिटल शेयर किसी भी अन्य Demat account  धारक  को भेज सकते हैं 

Demat account के अंदर हम किसी प्रकार का कोई भी भौतिक प्रक्रिया नहीं करते हैं इसमें हम ऑनलाइन ही किसी कंपनी के शेयर खरीदते हैं तथा इस में जमा करते हैं और हम इसी से निकाल कर किसी भी कंपनी के शेयर को  जिसे हम ने खरीदा है उसको हम स्टॉक एक्सचेंज  ऑनलाइन जाकर कभी भी  मार्केट बंद ना होने तक कभी भी बेच सकते हैं  इसमें समय की बहुत ही ज्यादा बचत होती है और आप 1 दिन में कई सारे शेरों के खरीद-फरोख्त कर सकते हो और आप ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सकते हो 

सामान्य शब्दों में कहा जाए तो Demat account को  Dematerialised कहते हैं  पहले  जब किसी कंपनी के शेयर खरीदते थे तो वह फिजिकल रूप में हमें मिलते थे लेकिन अब उनका फिजिकल स्वरूप खत्म हो चुका है  अर्थात Dematerialised हो चुका है ऐसे में हमें उन्हें रखने के लिए  एक Dematerialised  अकाउंट की आवश्यकता होती है जिसे Demat account  कहते हैं 

 

Why we need Demat account in Hindi : हमें Demat account  की आवश्यकता क्यों हुई 

दोस्तों हमें Demat account  की आवश्यकता क्यों हुई इसको जानने के लिए हम जाते हैं थोड़ा trading और Share Market  के इतिहास में  जा कर यह पता लगाते हैं कि हमेश की आवश्यकता क्यों पड़ी पहले Sellers और  buyers  दोनों ही  स्टॉक  एक्सचेंज पर जाकर खरीद फरोख्त करते थे  buyers अपने साथ रुपए लेकर जाया करते थे और Sellers अपने साथ सर्टिफिकेट लेकर जाया करते थे और जिसको जो जरूरत होती थी वह वह शेयर खरीदा था 

और  Sellers  को भी बहुत ज्यादा परेशानी उठानी पड़ती थी क्योंकि बोली लगाने वाले  बहुत ज्यादा हुआ करते थे और कागजी कार्रवाई भी बहुत ज्यादा थी कंपनी के कागज और शेयर के कागज इत्यादि शेयर करने के बाद में पैसों का  प्रॉब्लम की चेक  कैश   इत्यादि 

यदि दोस्तों मान लो आप को  एक शेयर  मार्केट में पैसा लगाना है तो आपको भी स्टॉक एक्सचेंज के पास जाना पड़ेगा और साथ में अपने जरूरी कागजात को लेकर जाना पड़ेगा और वहां पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा दो-तीन दिन में आपका  अकाउंट ओपन होता है और आप चार-पांच दिन बाद आप ट्रेडिंग शुरू कर सकते हो 

यह बहुत ही लंबी प्रक्रिया थी इस प्रक्रिया से गुजरने वाला व्यक्ति अक्सर परेशान हो जाया करता था ऐसे में Indian Share market के अंदर परिवर्तन लाना बहुत ही ज्यादा आवश्यक था और यह परिवर्तन भारत के अंदर NSE  लेकर आया था

 

Demat account Full form in Hindi – Demat accoun की Full form

दोस्तों Demat account  Full form होता है Dematerialised  पहले  जब किसी कंपनी के शेयर खरीदते थे तो वह फिजिकल रूप में हमें मिलते थे लेकिन अब उनका फिजिकल स्वरूप खत्म हो चुका है  अर्थात Dematerialised हो चुका है ऐसे में हमें उन्हें रखने के लिए  एक Dematerialised  अकाउंट की आवश्यकता होती है जिसे Demat account  कहते हैं 

 

Trading Account kya hai in Hindi  : Trading Account क्या है 

दोस्तों जिस प्रकार आपने ऊपर  पढ़ा की Demat अकाउंट में हम ऑनलाइन रूप से या डिजिटल रूप से किसी भी कंपनी के share संरक्षित करके रखते हैं और समय आने पर हम हमारे किसी भी  कंपनी के शेयर को ऑनलाइन रुप से  स्टॉक एक्सचेंज में बेच सकते हैं 

 इसी प्रकार  हम  हमारे Trading अकाउंट में  उस  कंपनी के शेयर को ऑनलाइन खरीदने के लिए पैसे  या मुद्रा को जमा करके रखते हैं और समय आने पर हम किसी भी कंपनी के शेयर को ऑनलाइन खरीद सकते हैं Trading account  सामान्य बैंक अकाउंट की तरह नहीं होता है 

 

डीमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं? – डीमैट अकाउंट के प्रकार 

  • रेगुलर Demate नियमित Demate केवल निवेशकों के लिए उपलब्ध हैं जो आवासीय भारतीय हैं. …
  • रिपेट्रिएबल Demate रिपेट्रिएबल Demate NRI के लिए उपलब्ध दो प्रकार के Demate में से एक है. …
  • नॉन-रिपेट्रिएबल Demate

 

Demat account open करने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या क्या है 

दोस्तों आपको अपना Demat account  ओपन कराने के लिए  किसी भी स्टॉक ब्रोकर के पास जाना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि यह ब्रोकर ही आपको स्टॉक एक्सचेंज तक आपका सफर आसान बनाता है और आपके लिए स्टोक्स का सुझाव देता है आपको अपने कुछ  जरूरी दस्तावेज लेकर ब्रोकर के पास जाने होते हैं वह निम्नलिखित हैं 

  1. पैन कार्ड
  2. पता प्रमाण पत्र {निम्न में से कोई सा भी}

 

  • आधार कार्ड
  •  पासपोर्ट
  •  ड्राइवर लाइसेंस
  •  बिजली का बिल
  •  राशन कार्ड 
  • बैंक की स्टेटमेंट
  •  वोटर आईडी कार्ड 

 

आप अपनी चार पासपोर्ट साइज फोटो तथा एक   अपने किसी बैंक के चेक को कैंसिल कर के लेकर और उपरोक्त दिए गए कारणों में से किसी एक प्रमाण पत्र का फोटो कॉपी लेकर ब्रोकर के पास जाना होता है 

 

Demat account open कैसे करें – Demat account kaise open karte hain

दोस्तों जैसा कि आप जानते हो कि पहले एक Demat account  खोलने में बहुत ही ज्यादा कागजी  करवाई होती थी  और एक Demat account खोलने में लगभग 5 से 6 दिन लग जाया करते थे और यह प्रक्रिया बहुत ही लंबी थी लेकिन जैसे ही हमारे  देश के शेयर मार्केट में   डिजिटल क्रांति आई और जब NSE के अंदर automated electronic trading system  आई तो हमारे देश के शेयर मार्केट में बहुत ही क्रांति आई और बहुत से लोग शेयर मार्केट से जुड़े 

 दोस्तों एक Demat account खोलने के लिए  दो  प्रक्रिया  उनमें से प्रमुख है 

 

Offline Demat account open कैसे  करें – Demat account kaise open kare

  1. दोस्तों आपको अपना डिमैट अकाउंट ओपन करने के लिए आज के इस समय में कई सारे ऑप्शन मिल जाते हैं  उन्हीं में से एक ऑप्शन यह है कि आप  offline Demat account open कैसे करें चलिए जानते हैं 
  2. दोस्तों आपको अपना  Demat account  offlinenओपन करवाने के लिए किसी एक स्टॉक  ब्रोकर के पास जाना पड़ेगा वह आपकी Demat account open  करवाने में मदद करेगा 
  3. आपको अब ब्रोकर से एक फार्म ले लेना है और उस फार्म के अंदर अपना मोबाइल नंबर , नाम, पता  और  कुछ और जरूरी डिटेल भरकर और हस्ताक्षर करके उस ब्रोकर को वह फार्म दे देना है 
  4. आपको उस फर्म के साथ में अपनी जरूरी कागज जैसे पैन कार्ड आधार कार्ड पासपोर्ट साइज की फोटो इत्यादि की फोटोकॉपी लगाकर दे देना है
  5. आपको वह फार्म  अपने ब्रोकर  को देने से पहले अच्छी तरह से पढ़ने की सलाह दे दी जाती है कि आप उसे अच्छी तरह से पढ़े कहीं कोई त्रुटि तो नहीं है
  6.  अब  आप को Demat account ओपन करवाने के लिए एक बार शुल्क देना पड़ता है वह कितना भी हो सकता है और यह शुल्क एक ही बार देना पड़ता है 
  7. लेकिन अब आपको वार्षिक शुल्क भी देना पड़ता है  और Demat account  का रखरखाव शुल्क भी देना पड़ेगा वर्ष में एक बार देना पड़ता है 
  8. लेकिन कई सारे  स्टॉक ब्रोकर फ्री में Demat account ओपन करवाते हैं जैसे Angel Broking, Motilal Oswal, IIFL, इत्यादि  ब्रोकर Demat account  फ्री में ओपन करवाते हैं
  9.  अब आपके द्वारा दिए गए फार्म को वह ब्रोकर वेरिफिकेशन करता है अर्थात सत्यापन करता है तो वह आपको फोन करके या स्काइप कॉल के माध्यम से या व्हाट्सएप के माध्यम से संपर्क करेगा और आपका भी वेरिफिकेशन करेगा 
  10. जब वह ब्रोकर आपके कागजों को वेरीफाई करके या सत्यापन करके आपका एक अकाउंट नंबर आपको  भेज देगा और वह डिमैट अकाउंट नंबर आपकी एक पहचान संख्या होगी 
  11. और वह स्टॉक ब्रोकर आपको एक  क्लाइंट आईडी भी देगा तथा कुछ क्रेडिट ही देगा आप उस  क्रेडिट का प्रयोग शेयर मार्केट में खरीद-फरोख्त करते समय कर सकते हो
  12.  अंत में वह आपको अपना एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म या एक ऑनलाइन सॉफ्टवेयर देगा जो कि आपके लैपटॉप पीसी या मोबाइल फोन में आसानी से चल सकता है और यह आराम से हैंडल हो सकता है और आप शेयर मार्केट में खरीद-फरोख्त कर सकते हो आपका अकाउंट चालू हो जाता है 

Online Demat account open कैसे करें – डिमैट अकाउंट कैसे खोले

  1. दोस्तों आपको अपना Online Demat account open  करने में कोई भी ज्यादा परेशानी नहीं आती है यह बहुत ही सरल प्रक्रिया है और यह लगभग 1 से 2 घंटे में हो जाता है
  2. दोस्तों आपको अपना डिमैट अकाउंट ऑनलाइन  ओपन  करने के लिए आपको अपने किसी एक ब्रोकर की वेबसाइट पर जाना पड़ेगा
  3. अब आपको ब्रोकर की वेबसाइट पर जाकर  ओपन है Demat account  के ऑप्शन पर क्लिक करना है और आगे बढ़ना है
  4.  अब आपको अपनी सारी जरूरी डिटेल जैसे  फोन नंबर, अपना पूरा नाम,  अपना पूरा पता और आवश्यक कुछ दस्तावेजों के फोटो को उसकी साइट पर अपलोड करना है 
  5. अब आपको उसे  सेगमेंट का चुनाव करना है जिसमें आप tred करना चाहते हो और अपने खाता खुलने का शुल्क अदा करें मतलब पेमेंट पर कर दें 
  6. यदि आप के सहारे ही कागज और दस्तावेज वेरिफिकेशन हो जाते हैं मतलब सत्यापन हो जाते हैं तो आपको अपने रजिस्टर्ड ईमेल पर आईडी पासवर्ड  प्राप्त होंगे  जिसका प्रयोग आप उस ब्रोकर के ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर जाकर लॉगिन  करना है 

 

ऑनलाइन Online Demat account open करना एक बहुत ही आसान प्रक्रिया है और एक बहुत ही जल्दी हम अपना  डीमैट अकाउंट चालू कर लेते हैं और आसानी से ही ट्रेड करना शुरू कर देते हैं और Online Demat account open करने में  कभी-कभी कोई भी शुल्क अदा नहीं करनी पड़ती है 

 

Demat account open charge fees in Hindi 

दोस्तों Demat account open करने का कोई ज्यादा चार्ज नहीं होता है हालांकि कई ब्रोकर्स कंपनियां  डिमैट अकाउंट फ्री में ही ओपन कर देती हैं और  सालाना रखरखाव शुल्क लेती है और यह शुल्क 300  रुपयों से लेकर 700  रुपए तक हो सकती है 

सबसे पहले आपसे एक  अकाउंट  ओपनिंग फीस ली जाएगी जो कि एक ही बार देनी होती हैअकाउंट ओपनिंग फीस अलग-अलग कंपनी अलग अलग मात्रा मैं लेती है 

 उसके बाद आपसे सालाना रखरखाव शुल्क लिया जाता है यह हर साल देना पड़ता है और यह भी अलग-अलग कंपनी अलग-अलग मेंटेनेंस शुल्क लेती है 

 

Demat account Transaction fees 

                                         Transaction fees का अर्थ होता है कि दो डीमैट अकाउंट ओं के मध्य लेनदेन जब भी आप कोई दो डिमैट अकाउंट के मध्य लेनदेन करते हैं तब आपको यह चार्ज देना पड़ता है और यह चार्ज आप के लेनदेन के ऊपर निर्भर करता है कि आपने कितना लेनदेन किया है 

Demat account open कौन करता है  

दोस्तों अब आपके मन में यह प्रश्न उठ रहा होगा कि भारत के अंदर Demat account कौन करता है अर्थात कौन सी ऐसी संस्था है  जो कि Demat account ओपन करती है चलिए जानते हैं 

दोस्तों भारत में ऐसी दो संस्थाएं कार्यरत है जो कि Demat account  ओपन करती हैं उनका नाम है पहली NSDL (National Securities Depository Limited) और दूसरी CDSL (central securities depository limited) 

इन संस्थाओं के लगभग 500  कर्मचारी या 500  एजेंट फैले हुए हैं जो कि depository participants कहलाते हैं  इनका मुख्य काम Demat  अकाउंट खोलना होता है इन्हें हम आम भाषाओं में DP  भी कहते हैं 

दोस्तों आपको अपना Demat accont  ओपन करने के लिए pan  कार्ड की बहुत ज्यादा आवश्यकता पड़ती है इसलिए आप अपना  Pan कार्ड अवश्य बनवाएं 

 

Demat account के फायदे – Demat account benefits in Hindi

दोस्तों वैसे तो डिमैट अकाउंट के कई सारे फायदे हैं लेकिन हम मुख्य मुख्य फायदे की बातें  करेंगे चलिए शुरू करते हैं

एक बार Demat account  ओपन करने के बाद यदि आप किसी कंपनी के शेयर को खरीदते हैं  तो उन्हें आप इसे Demat account  के अंदर जमा करते हैं तो इनके चोरी होने का खतरा न के बराबर रह जाता है क्योंकि यह एक डिजिटल रूप में होते हैं और डिजिटल रूप में होने के कारण इनके चोरी होने का खतरा ना के बराबर होता है 

पहले पुराने समय में  कंपनी के शेयर को  किसी भी दूसरे व्यक्ति के पास ट्रांसफर करने में बहुत ज्यादा समय लग जाता था  कभी-कभी 1 महीने का समय भी लग जाता था जबकि Demat account  के माध्यम से हम कुछ ही समय में लगभग 4 से 5 सेकेंड के अंदर हम  शेयर को किसी दूसरे  व्यक्ति के पास भेज सकते हैं

पहले किसी भी शेर को बेचना बहुत ही आसान नहीं था यह बहुत ही मुश्किल भरा काम था क्योंकि हम  सम संख्या वाले  शेयर को अर्थात हम किसी भी कंपनी के शेयर को किसी समूह में भेज सकते थे अकेला शेर नहीं बनता था जबकि आज Demat  अकाउंट के माध्यम से हम 1  शेयर को भी  बेच सकते हैं 

अब आप अपना Demat account  ओपन करते हैं तो आप इसे पर्सनल तौर पर उपयोग कर सकते हो और आसानी से कोई भी ट्रेड कर सकते हो लेकिन पहले ऐसा संभव नहीं था 

दोस्तों यदि आप Demat account  के माध्यम से यदि आप किसी भी शेयर में इन्वेस्ट करते हो तो आप उसकी एक बार अच्छी तरह से जांच परख कर ले या नहीं तो किसी भी स्टॉकब्रोकर की मदद ले लें क्योंकि स्टॉक ब्रोकर को एक अच्छी नॉलेज होती है  यदि आप किसी भी जानकारी के बिना शेयर मार्केट में निवेश करते हैं तो यह आपके लिए एक घाटे का सौदा हो सकता है जग रहे सतर्क रहें और जानकारी के साथ में ही अपनी शेयर मार्केट की यात्रा आरंभ करें

 

CONCLUSION

 

दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपने अभी तक Demat account क्या है और डिमैट अकाउंट ओपन कैसे करें {Demat account kya hai  Demat account open kaise kare in hindi } जान गए होंगे और आपको यह आर्टिकल अवश्य पसंद आया होगा  हमारा यही प्रयास रहता है कि हमारे  रीडर को हम पूरी जानकारी उपलब्ध कराएं

यदि आपको इसमें कुछ भी कमी नजर आती है या आप कुछ सुधार करवाना चाहते हो तो आप नीचे कमेंट अवश्य करें और  अपनी राय भी अवश्य रखें 

 यदि दोस्तों आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो आप इसे अपने दोस्तों में, अपने रिश्तेदारों में, अपने व्हाट्सएप ग्रुप, और फेसबुक पर इसे शेयर करें ताकि और लोगों के पास में भी है महत्वपूर्ण जानकारी पहुंचे वह भी इसका लाभ उठा सकें

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment