Cheque kya hai – Bank चेक क्या होता है ? चेक कितने प्रकार के होते है ?

Cheque kya hai – चेक क्या होता है ? चेक कितने प्रकार के होते है ? ,Cheque  Meaning in Hindi ,दोस्तों जब भी आप ने Bank द्वारा लेन देन के बारे में सुना होगा तो आपके सामने Cheque (चेक)  का नाम अवश्य आया होगा आपने सुना होगा कि Cheque (चेक) के माध्यम से इतने लाख रुपए का पेमेंट हो चुका है,

अक्सर बड़े-बड़े बिजनेस में ज्यादा पैसों का लेनदेन Bank   के Cheque (चेक)  के माध्यम से ही होता है और Current account के अंदर भी हम Cheque (चेक)  के माध्यम से ही पेमेंट करते हैं उसमें हमें पासबुक नहीं मिलती है एक चेक book  मिलती है  दोस्तों उस समय आपके मन में अवश्य प्रश्न उठा हुआ कि यह Cheque (चेक)  क्या होता है, Cheque (चेक)  के  कितने प्रकार होते हैं ,Cheque किस प्रकार कार्य करता है ,Cheque (चेक) बाउंस क्या होता है इसके क्या सजा है

इस लेख को शुरू से अंत तक अवश्य पढ़ें जिससे कि आपके मन में उठने वाले Cheque (चेक)   संबंधित सारे प्रश्न हल हो जाएं चलिए जानते हैं

Cheque kya hai - Bank चेक क्या होता है ? चेक कितने प्रकार के होते है ?

विषय सूची

          

Cheque kya hai in Hindi – चेक क्या होता है

Cheque kya hota hai in Hindi. दोस्तों Cheque (चेक)  एक सामान्य से कागज का टुकड़ा होता है जो बैंक को बिना किसी शर्त  के यह आदेश देता है अर्थात स्पष्ट करता है

कि मैं चेक धारक को या अन्य किसी व्यक्ति को जिसको हम चेक देते हैं,उसे इतने रुपए अदा करने का वचन देता हूं,  यह एक धनादेश होता है अर्थात एक भुगतान पत्र होता है  Cheque (चेक)  के अंदर देनदार नाम होता है या किसी भी कंपनी या फर्म का नाम हो सकता है  इसमें शब्दों में और अंकों में भुगतान राशि लिखी होती है और भुगतान को वचन के रूप में लिखा जाता है और अंत में उसके सिग्नेचर अर्थात साइन होते हैं

यदि किसी चेक के ऊपर Cheque (चेक)  मालिक का साइन नहीं होता है तो उस स्थिति में बैंक किसी प्रकार का भुगतान Cheque (चेक)  धारक को नहीं करेगा और Cheque (चेक)  धारक का चेक रिजेक्ट हो सकता है

 

Cheque  Meaning in Hindi – Cheque (चेक) का मतलब 

Cheque  meaning in Hindi.दोस्तों सामान्य हिंदी भाषा में Cheque (चेक)  का (meaning) मतलब , :- Cheque (चेक) ,रुका . हुंडी, धनादेश ,देयक  होता हैं

Cheque (चेक)  शब्द का हिंदी प्रचलन इतना ज्यादा नहीं है इसलिए हमें यह शब्द कम ही सुनने को मिलते हैं हां हमने कभी कभी धनादेश सुन लेते हैं

अक्सर इस पेमेंट मेथड का उपयोग बैंकों में बड़ा लेनदेन करने के लिए किया जाता है

 

Cheque (चेक)  कैसे कार्य करता है – चेक के कार्य

Cheque (चेक) work Kaise karta hai. दोस्तों जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुकी हो कि चेक एक सामान्य सा कागज का टुकड़ा होता है जिसके ऊपर बैंक का प्रतिनिधि होता है  जब भी कोई चेक मालिक चेक के द्वारा किसी लेनदार को  भुगतान करता है तो  लेनदार उच्च को लेकर बैंक जाता है और बैंक में जाकर उस चेक को लगाता है

बैंक में कर्मचारी उस चेक की वैलिडिटी और वैधता जानते हैं और उसका सत्यापन करते हैं उसके बाद Cheque (चेक)   मालिक के अकाउंट से पेमेंट निकाल कर लेनदार के खाते में जमा कर दी जाती है

चेक मालिक द्वारा जितनी राशि उस Cheque (चेक)  में लिखी जाती है उतनी राशि उसके बैंक अकाउंट में होनी चाहिए नहीं तो बहुत बड़ा जुर्माना लग सकता है या उसको जेल भी हो सकती है  दिलदार को दिए गए उस चेक में  सारी डिटेल एकदम साफ साफ लिखी होनी चाहिए किसी प्रकार का कोई करेक्शन नहीं होना चाहिए चक मालिक का साइन भी होना चाहिए नहीं तो लेंडर को पैसे नहीं मिलते हैं

 

Cheque (चेक) के प्रकार :- चेक कितने प्रकार के होते है ?

दोस्तों अभी तक आपने जाना है कि Cheque (चेक) kya hai in hindi  और Cheque (चेक)  किस प्रकार कार्य करता है अब हम चेक के प्रकार के बारे में जानने वाले हैं नीचे कितने प्रकार के होते हैं

 

1.   खुला चेक – Open Cheque kya hai in Hindi  

 दोस्तों यह है बहुत ही सामान्य से चेक होते हैं हम चेक के माध्यम से बड़ी आसानी से पेमेंट withdrawal  कर सकते हैं अपनी अनुपस्थिति में किसी और व्यक्ति को भी भेज कर बैंक से पैसा निकाल सकते हैं

इस चेक के माध्यम से पेमेंट करना बहुत ही आसान होता है और हम बड़ी आसानी से इनका उपयोग कर सकते हैं

 

2.  वेयरर चेक – Bearer Cheque kya hai in Hindi 

दोस्तों Bearer Cheque (चेक) बहुत ही आसान होता है इसके द्वारा पेमेंट निकालना बहुत ही आसान होता है हम किसी भी अन्य व्यक्ति को चेक देकर   बैंक में से  अपने अकाउंट के पैसे निकलवा सकते हैं

इस चैट में स्थित खाताधारक के हस्ताक्षर की आवश्यकता होती है जैसा कि आप जानते हो कि हर चैट के नीचे लगभग हस्ताक्षर मिल जाते हैं ऐसे में यह चेक बहुत ही रिस्की  होता है क्योंकि यह कहीं गुम गया तो कोई भी व्यक्ति Cheque (चेक) के माध्यम से रुपए निकाल सकता है

3.  क्रॉस चेक – Cross Cheque Kya hai in Hindi

दोस्तों जिस प्रकार Bearer Cheque (चेक)  के अंदर बड़ी  आसानी से पेमेंट निकल जाती है लेकिन क्रॉस चेक के अंदर ऐसा नहीं होता है इसमें  Bearer Cheque (चेक)  के समांतर दो लाइन खींच कर A/C payee only लिख दिए जाने पर इसकी सुरक्षा कई गुना बढ़ जाती है

इसमें कोई भी व्यक्ति आसानी से पैसा नहीं निकाल  सकता है केवल वही व्यक्ति निकाल सकता है जिसके नाम का एक Cheque (चेक)  जारी होता है उसी के अकाउंट में पैसे जमा होते हैं

 

4.  आदेश चेक –  order cheque kya hai in Hindi 

दोस्तों जब Bearer Cheque (चेक) को काट कर उस पर आर्डर लिख दिया जाता है जब हम किसी चेक तो किसी कंपनी किसी फर्म में किसी व्यक्ति के नाम पर काट कर देते हैं

उससे चेक से पेमेंट सिर्फ वही व्यक्ति निकाल सकता है जिसके नाम का हम चेक काटते  हैं हैं  इसमें ज्यादा रिस्क नहीं होता है यह बहुत ही सिंपल से work  करता है इसमें  Cheque (चेक) मालिक के साइन होना बहुत ही आवश्यक है

 

5.   कैंसिल चेक – Cancel check Kya Hota Hai

दोस्तों कैंसिल चेक एक सामान्य चेक को कैंसिल करके बनाया जाता है इसे कैंसिल करने के लिए इस पर कैंसिल लिखा भी जाता है या एक खाली चेक के ऊपर तिरछी लाइन खींचकर उसे कैंसिल किया जाता है

इसका उपयोग  अकाउंट वेरीफिकेशन के लिए किया जाता है और जब हम फाइनेंस करवाते हैं या किसी बिजनेस से संबंधित कुछ भी कार्य करते हैं तो उसमें कैंसिल चेक की भूमिका महत्वपूर्ण होती है

 

 

6.  सेल्फ चेक- (Self check kya hai in Hindi )

दोस्तों सेल्फ चेक के अंदर जब हम किसी चेक को काटते हैं तो उसमें भुगतान पाने वाले की जगह पर सेल्फ लिख दिया जाता है इसका मतलब यह होता है कि खुद ही जाकर बैंक से पैसे निकालने होंगे

सिर्फ खाताधारक ही बैंक से पैसे निकाल सकता है

 

Cheque (चेक)  का वर्गीकरण स्थान के आधार पर

दोस्तों Cheque (चेक)   का यह वर्गीकरण स्थान के आधार पर किया जाता है कि हम एक से एक को किसी दूसरे शहर में ले जाकर बैंक में लगा सकते हैं तो उसे क्या कहते हैं  और उसी शहर में क्लियर करते हैं तो क्या कहते हैं चलिए जानते हैं

1.   Local cheque (स्थानीय चेक) 

दोस्तों यदि कोई चेक मालिक किसी  लेनदार को चेक देता है और वे लेनदार उसी शहर में अपने चेक को क्लियर कर लेता है अर्थात बैंक जाकर  पेमेंट विड्रोल कर लेता है तो उसे स्थानीय Local cheque (स्थानीय चेक ) कहते हैं

Local cheque (स्थानीय चेक ) के द्वारा बड़ी आसानी से ही लोगों की किसी बैंक में हम पेमेंट निकाल सकते हैं इसमें कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगता है

2.  Outstation cheque(आउटस्टेशन चेक) 

किसी भी चेक मालिक द्वारा किसी लेनदार को दी गई चेक को यदि लेनदार लोकल बैंक की बजाय किसी दूसरे शहर में जाकर वहां के किसी बैंक से पैसे निकालता है अर्थात Cheque (चेक)  को क्लियर करता है तो उसे आउटस्टेशन चेक कहते हैं

Outstation cheque को क्लियर करने पर हमें अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता है इसलिए हमें किसी लोकल बैंक में जाकर अपना चेक क्लियर कर लेना चाहिए

 

3.  At par cheque(एट पर चेक )

दोस्तों जो यह At par cheque होता है उसे हम किसी भी बैंक से क्लियर करवा सकते हैं तो किसी भी शहर में जाकर किसी बैंक में हम इस चेक को देखकर अपना पैसा निकाल सकते हैं वह शर्त यह है कि उसी बैंक का वह Cheque (चेक)  होना चाहिए

अर्थात Cheque (चेक)  बुक उसी बैंक या उसी बैंक  के किसी और शाखा द्वारा जारी  की गई हो

 

मूल्य के आधार पर Cheque (चेक)  का वर्गीकरण 

दोस्तों मूल्य के आधार पर Cheque (चेक)  तीन भागों में वर्गीकरण किया गया है चलिए जानते हैं

  •  ऊंचे मूल्य वाले Cheque (चेक) :-

  • दोस्तों जो चेक एक लाख से अधिक रुपए की होते हैं उन्हें हम ऊंचे मूल्य वाले चेक कहते हैं यह अक्सर बड़े बिजनेस  में लेनदेन के लिए उपयोग किए जाते हैं 

  • साधारण मूल्य वाला Cheque (चेक) :-

  • जो Cheque (चेक) ₹100000 से कम मूल्य के होते हैं उन्हें साधारण मूल्य वाले चेक कहा जाता है यह अक्सर सामान्य लोग इनसे लेनदेन करते हैं 

  • उपहार Cheque (चेक) :-

  • दोस्तों उपहार Cheque के अंतर्गत ऐसे Cheque आते हैं जिनका उपयोग हम एक दूसरे को उपहार स्वरूप देने में करते हैं गिफ्ट Cheque (चेक  कहलाते हैं 

 

Cheque कैसे भरें – Bank check Kaise bhare

दोस्तों जब हम किसी को भी पेमेंट करने के लिए चेक काटते हैं तो उस समय उसमें लेनदार कंपनी, फार्म, व्यक्ति, कोई भी हो उसका नाम एकदम क्लियर डालना है, और कैश अमाउंट की राशि शब्दों में और अंकों में दोनों में ही लिखनी है

अंत में आपको एक साइन आगे की ओर और एक साइन पीछे की ओर करना होगा हालांकि Cheque (चेक)  के ऊपर आपके इस डिजिटल सिग्नेचर होते हैं

Cheque (चेक) को भरते समय सावधानियां रखें चेक में किसी प्रकार का कोई भी करेक्शन नहीं करें ताकि वेरिफिकेशन में दिक्कत ना आए

यदि आप स्वयं पैसा निकालना चाहते हो तो उसमें payee की जगह self लिख दे और साइन कर दे पैसा निकल जाएगा

 

Cheque के क्या फायदे हैं – Cheque ke fayde

Benefits of Cheque (चेक)  in Hindi.अभी तक हमने जाना है कि Cheque क्या है Cheque किस प्रकार कार्य करता है चेक के कितने प्रकार होते हैं अब हम जाने वाले हैं Cheque के क्या-क्या फायदे हैं चलिए जानते हैं

  1.   दोस्तों किसी भी Cheque के माध्यम से पेमेंट करना बहुत ही आसान होता है इसमें हमें लंबी कतारों में नहीं लगना पड़ता है हम चेक के माध्यम से किसी को भी कमेंट कर सकते हैं
  2.   Cheque के माध्यम से पेमेंट करना बहुत ही सुरक्षित होता है इसमें किसी प्रकार का खतरा नहीं होता है जब तक कि चेक गुम या कहीं खो ना जाए तभी हम बड़ी आसानी से इसको बंद करवा सकते हैं और सुरक्षित तरीके से पेमेंट हो जाती है
  3.   Cheque के द्वारा पेमेंट करने पर किसी प्रकार की लिमिट नहीं होती है हम लाखों करोड़ों रुपए की लेन-देन चेक के माध्यम से कर सकते हैं बस कहीं ट्रांजैक्शन  ज्यादा हो जाने पर हमें कुछ सीमा  के अंदर सीमित कर दिया जाता है
  4.   Cheque के माध्यम से पेमेंट करने के दौरान हमसे कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार का फ्रॉड  नहीं कर सकता है क्योंकि इसके बीच में सिर्फ खाताधारक और लेनदार  के बीच की प्रक्रिया होती है लेनदार बैंक जाकर आसानी से पेमेंट निकाल सकता है

 

Cheque के नुकसान क्या है :- (Disadvantage of Cheque in Hindi)

 समय की अधिकता :-

चेक के द्वारा पेमेंट करना आज से कुछ साल पहले बहुत ही आसान होता था हमें बहुत सरल लगता था लेकिन अब के इस डिजिटल दुनिया में जहां ऑनलाइन लेनदेन शुरू हो चुका है

ऐसे में चेक के माध्यम से पेमेंट करना अब थोड़ा समय की बर्बादी समझी जाती है हालांकि बड़े-बड़े बिजनेस में और बड़ी-बड़ी लेनदेन चेक के माध्यम से ही होती है

 

चिंता ग्रस्त होना :-

दोस्तों यदि हम चेक बुक को अपने कहीं पर भी साथ में ले जाते हैं तो हमें उसकी चिंता लगी होती है कि कहीं गिर ना जाए गुम ना जाए किसी को गुम  हुआ चेक मिल जाए तो वह  उस खाते से कैश निकाल सकता है

 

                            Conclusion

दोस्तों अभी तक आज के इस लेख में  आपने Cheque (चेक) के बारे में जाना की Cheque (चेक)  kya hai hai in Hindi, Cheque (चेक)  kitne Prakar ke Hote Hain ,Meaning of Cheque (चेक)  in Hindi इत्यादि

आशा  करते हैं कि आपको Cheque (चेक)  के बारे में समझ आ गया होगा या  इस लेख के माध्यम से Cheque (चेक)  के बारे में समझने में आसानी होगी  दोस्तों इस Article  को अपने दोस्त, नजदीकी रिश्तेदार, और अपने ग्रुप में अवश्य शेयर करें ताकि उनको भी यह  महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो

 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न – FAQ

चेक किसे कहते हैं चेक कितने प्रकार के होते हैं?

चेक (Cheque) भुगतान के लिए एक प्रचलित जरिया है. दरअसल, चेक बैंकिंग सिस्टम का एक ऐसा साधन है जिसके जरिए व्यक्ति बैंक को किसी व्यक्ति विशेष को भुगतान करने के लिए आदेश देता है

बैंक में चेक कितने प्रकार के होते हैं?

1. खुला चेक – Open Cheque
2. बेयरर चेक – Bearer Cheque
3. क्रॉस्ड चेक – Crossed Cheque
4. आदेश चेक – Order Cheque

बैंक के चेक पर क्या क्या जानकारियां लिखी होती है ?

चेक पर आपके बैंक से सम्बंधित लगभग सभी जानकारियां दर्ज होती है। जैसे -उपभोक्ता का खाता नंबर, बैंक की ब्रांच, बैंक का पता आदि कई जानकारियां लिखी होती है।

 

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment