Bond क्या हैं ? Bond कितने प्रकार के होते हैं – जानिए हिंदी में पूरी जानकारी

Bond क्या हैं , Bond kya hai In Hindi ,Bond kitne Prakar ke Hote Hain,Bond कितने प्रकार के होते हैं – दोस्तों क्या आप Trading करते हैं या Share market  में इन्वेस्ट करते हैं तो आपने Bond  में Invest  के बारे में अवश्य सुना होगा की Government Bond  में इन्वेस्ट करें तो आपको इतना रिटर्न मिलेगा तो दोस्तों आप बांड के बारे में अवश्य जानते होंगे कि बांड क्या है बोंड कितने प्रकार के होते हैं

यदि आप बांड के बारे में जानते हैं या बांड के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक पढ़े इसमें आप जानने वाले हो कि Bond क्या है – Bond kya hai in Hindi , Bond कितने प्रकार के होते हैं

Bond क्या हैं ? Bond कितने प्रकार के होते हैं

Bond क्या है ? Bond kya hai in Hindi | What is Bond in Hindi

Bond kya hai in Hindi – Bond क्या हैं  – दोस्तों जब किसी व्यक्ति को पैसे की आवश्यकता होती है तब वह व्यक्ति या तो किसी व्यक्ति से उधार लेता है या अपनी बचत को निकालता है और उपयोग में लेता है ऐसे ही जब सरकार को अपने राजकीय कोष में पैसे की कमी लगती है या किसी महत्वपूर्ण परियोजना में पैसे की ज्यादा आवश्यकता होती है तब Government पैसा इकट्ठा करने के लिए आमजन और बड़े Investors से पैसा इकट्ठा करने के लिए बांड जारी करते हैं 

यह जारी किए गए Government Bond आम आदमी और बड़े-बड़े Investors तथा उन सभी व्यक्तियों के लिए होते हैं जो कि अपना पैसा सुरक्षित जगह पर इन्वेस्ट करना चाहते हैं और High return पाना चाहते हैं 

 

Bond meaning in Hindi – Bond in Hindi 

Bond kya hai in Hindi  – सरकार के द्वारा जारी किए गए बांड को ऋण पत्र भी कहते हैं क्योंकि यह एक पत्र के रूप में होता है इस ऋण पत्र अर्थात बांड के ऊपर बोंड की या ऋण पत्र की फेस वैल्यू भी अंकित होती है और इस बांड के ऊपर मिलने वाला इंटरेस्ट रेटअर्थात ब्याज दर भी अंकित होता है 

बॉन्ड की प्राइस अर्थात मूल्य पहले से ही तय होते हैं और इन पर मिलने वाला ब्याज भी पहले से ही फिक्स होता है कुछ बॉन्ड लंबे लंबे समय के लिए होते हैं जैसे 1 साल 3 साल 5 साल 10 साल इसे बोर्ड मैच्योरिटी टाइम कहा जाता है 

 

Bond कितने प्रकार के होते हैं ? Bond kitne Prakar ke Hote Hai | Bond Types in Hindi 

Bond कितने प्रकार के होते हैं – दोस्तों आपने ऊपर जाना है कि बांड क्या है और बोर्ड किस प्रकार कार्य करता है हमें किस प्रकार बॉन्ड से फायदा होता है चलिए जानते हैं कि बांड कितने प्रकार के होते हैं 

  • सरकारी बॉन्ड – Government Bond kya hai 

Government Bond kya hai in Hindi – दोस्तों जब सरकारी कार्य हेतु सरकार को किसी विशेष महत्वपूर्ण परियोजना के लिए धनराशि की आवश्यकता होती है तो वह जनता और इंडस्टर से पैसा उठाने के लिए बॉन्ड जारी करते हैं

यह बांड बहुत ही सुरक्षित होते हैं और आम आदमी के लिए इन्वेस्टमेंट का एक अच्छा मौका होता है इन बॉन्ड में इन्वेस्टमेंट कर के हम लोंग टाइम में अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं 

  • म्यूनिसिपल बॉन्ड – Municipal Bond kya hai 

Municipal Bond kya hai – दोस्तों जब लोकल सरकार अर्थात नगर पालिका नगर निगम या नगर परिषद लोकल काम करने के लिए जैसे रोज बनाना सड़क बनाना या कोई पुल का निर्माण करने के लिए यह सरकार लोकल स्तर पर बांड जारी करती है

यह बांड भी इन्वेस्टिंग की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं यह भी एक अच्छा मुनाफा दे सकते हैं 

  • कॉरपोरेट बॉन्ड – Corporate Bond kya Hote Hai 

Corporate Bond kya Hote Hai – कॉर्पोरेट बॉन्ड ऐसे गुण होते हैं जब किसी विशेष सेक्टर या क्षेत्र को पैसे की आवश्यकता होती है तो वह आम इन्वेस्टर से पैसा उठाने के लिए अपने बांड जारी करते हैं यह भी ब्याज और इन्वेस्टिंग की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं इनमें आयोजन प्राप्त होने के अच्छे चांस होते हैं 

यदि आप कॉर्पोरेट बॉन्ड में इन्वेस्ट करते हो तो आपका पैसा बहुत ही सुरक्षित होता है और आपका समय पूरा होने पर ब्याज सहित में आपका पैसा लौटा दिया जाता है 

  • सिक्योर बॉन्ड  – Secure Bond kya hai in Hindi

Secure Bond kya hai – शिखर माउंट का मतलब होता है कि आपका पैसा बहुत ही सुरक्षित है चाहे वह कंपनी घाटे में ही क्यों ना चल रही हो आपका पैसा आपके निश्चित समय पर आपके ब्याज के साथ में सही समय पर आपको दे दिया जाता है यदि आपको वह कंपनी पैसे देने में आनाकानी करती है तो आप उस पर केस कर सकते हो 

किसी भी हालात में कंपनी को आपका पैसा वापस लौट आना ही पड़ेगा इसलिए इसे सिक्योर बॉन्ड कहा जाता है

 

  • इन सिक्योर पॉन्ड – Insecure Bond kya hai 

Insecure Bond kya hai – इन सिक्योर बॉन्ड बहुत ही जोखिम भरा होता है इसमें इन्वेस्ट करना बहुत ही रिस्की हो सकता है क्योंकि आपने जिस कंपनी के वांट में इन्वेस्ट किया है यदि वह कंपनी अच्छा मुनाफा भी कमा रही हो तो यदि वह आपके पैसे को नहीं लौट आना चाहती है तो वह नहीं लौटा सकती है

तो आप इसके खिलाफ कोई भी अर्जी या मुकदमा नहीं कर सकते हैं क्योंकि आपने इनकी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हुए होते हैं इनके इंटरेस्ट रेट अर्थात ब्याज दर बहुत ही दुआ बनी होती है और इनके प्लान बहुत ही बड़े होते हैं

  • जीरो कूपन बॉन्ड – Zero coupon Bond kya hai 

Zero coupon Bond kya hai –  जीरो कूपन बॉन्ड में इन्वेस्ट करने पर कंपनी आपको किसी प्रकार का इंटरेस्ट या प्याज नहीं देती है बल्कि आपको अलग से और ऊपर से मुनाफा कमाना होता है मान लीजिए यदि किसी कंपनी के शेयर का प्राइस ₹500 है  यदि उसमें जीरो कूपन बॉन्ड होता है तो आपको यह से ₹400 में मिल जाता है और उसके ऊपर आपको ₹100 का प्रॉफिट होता है 

  • प्रपैचुअल बॉन्ड – Perpetual Bond kya hai 

Perpetual Bond kya hai – पर्पेटुअल बॉन्ड्स इन्वेस्टिंग की दृष्टि से और लोगों में काफी महत्वपूर्ण और पसंदीदा होता है इस प्रकार के बोर्ड में ज्यादा नियम और शर्तें नहीं होती हैं और ब्याज दर अर्थात इंटरेस्ट रेट भी काफी अच्छा होता है 

Perpetual Bond की सबसे अच्छी बात और खासियत यह होती है कि आपने जितने बांड खरीदे हैं उन पर आपका पूर्ण मालिकाना हक हो जाता है यह कुछ इक्विटी शेयर और स्टॉक की तरह होता है 

  • इंफ्लेशन बॉन्ड – Inflation Bond kya hai 

Inflation Bond kya hai – दोस्तों जैसा कि Inflation का मतलब होता है मुद्रास्फीति  ऐसे ही Inflation Bond का ब्याज दर  महंगाई पर निर्भर होता है मधुर में आने वाली महंगाई पर इसका ब्याज दर निर्भर होता है और उसी के हिसाब से ऊंचा नीचा होता रहता है 

  • कॉलएबल बॉन्ड – Callable Bond kya hai 

Callable Bond एक ऐसा बॉन्ड होता है यदि आपने इस भांड में इन्वेस्ट किया है और कंपनी ने ज्यादा मुनाफा कमा लिया और वह कंपनी चाहती है कि अब वह बंद को वापस लेना चाहती है तो वह आपसे आप की समय अवधि से पहले ही बॉन्डको वापस ले लेगी 

आप चाह कर भी इससे बॉन्डको देने से मना नहीं कर सकते हैं ऐसे ही Callable Bond बोंड  कहा जाता है  

 

  • कन्वर्टिबल बॉन्ड – Convertible Bond kya hai in Hindi

Convertible Bond kya hai – कन्वर्टिबल बॉन्ड ऐसा बॉन्ड होता है जो बाद में बदला जा सकेमान लीजिए यदि आपने कन्वर्टिबल बॉन्ड में इन्वेस्ट किया है तो आप इसे शेयर या स्टॉक में बदल सकते हैं और लंबे समय तक इस में इन्वेस्ट कर सकते हैंआप इसके सिवा धारक बन सकते हैं कन्वर्टिबल बॉन्ड्स एक लंबे समय के लिए अच्छा इन्वेस्टमेंट प्लान है 

 

Bond kya hai in Hindi – (Conclusion) – निष्कर्ष 

दोस्तों अभी तक आपने जाना है कि  Bond क्या है – Bond kya hai in Hindi , Bond कितने प्रकार के होते हैं आशा करता हूं कि आपको यह लेख अच्छा लगा होगा और इससे आपको  Bond क्या है – Bond kya hai in Hindi , Bond कितने प्रकार के होते  हैं इसके बारे में अवश्य अच्छी जानकारी मिली होगी 

अपनी राय रखने के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट अवश्य करें 

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

Leave a Comment