Bank kya hai in Hindi ? और Bank के कार्यों के बारे में जानकारी

Bank kya hai in Hindi और Bank के कार्यों के बारे में जानकारी – Bank Kya Hota Hai, ( What is bank in Hindi ) , Bank meaning in hindi दोस्तों जब भी हम पैसों से लेनदेन की बातें करते हैं तो हमारे मन में अक्सर Bank (Bank meaning in hindi)  का ख्याल आता होगा और ख्याल आता है कि एक ऐसा स्थान जहां पर बहुत ही ज्यादा मात्रा में लगभग लाखों-करोड़ों रुपए एक साथ देखने को मिल जाते हैं

 सामान्य  शब्दों में Bank ( What is bank in Hindi )  एक ऐसा स्थान होता है जहां पर लोग अपने बचत की राशि जमा कराते हैं और जरूरत की राशि को ऋण के रूप में ले जाते हैं बैंक हर व्यक्तियों कर दे देती है और बदले में ब्याज वसूलती है और अपने जमा कर्ताओं को एक निश्चित दर पर ब्याज देती है 

दोस्तों आज से कुछ साल पहले जब  हमें अपने रुपए जमा कराने होते थे या अपने जमा रुपयों को निकालना होता था तो हमें बैंक जाना होता था और बैंक जाकर उनकी लंबी लंबी लाइनों में खड़ा होना पड़ता था लास्ट में जाकर नंबर आया करता है लेकिन वर्तमान समय में बैंकों (bank in Hindi) का स्वरूप बिल्कुल ही बदल चुका है और  लगभग बैंकों ने अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को लॉन्च कर दिया है जहां  ऑनलाइन बैंकिंग या नेट बैंकिंग के माध्यम से हर ग्राहक अपने अकाउंट को ऑनलाइन मैनेज कर सकता है

तो दोस्तों आपके मन में कभी  ना कभी  प्रश्न उठा होगा कि , बैंक क्या है -Bank kya hai in Hindi , बैंक किस प्रकार कार्य करता है, बैंक कितने प्रकार के होते हैं, भारत में बैंकों की क्या स्थिति है, बैंक ऋण किस  प्रकार प्रदान करते हैं, ब्याज दर कितना होता है 

 दोस्तों इन्हीं प्रश्नों के जवाब जानने  के लिए आप इस लेख को अंत तक पढ़ें जिससे आपको इसमें पर्याप्त जानकारी मिल सके चलिए जानते हैं 

Bank kya hai in Hindi और इसके कार्यों के बारे में जानकारी

Bank kya क्या होता है :- Bank kya hai in Hindi| What is bank in Hindi 

Bank Kya Hota Hai  -दोस्तों बैंक (Bank meaning in hindi) एक ऐसी वित्तीय संस्था होती है जहां पर बहुत ही बड़ी मात्रा में पैसों का लेन-देन होता है,  लोग अपनी  बचत राशि को इस बैंक में जमा करवाते हैं और  जरूरतमंद व्यक्ति अपने जरूरत के हिसाब से इन बैंकों से ऋण लेते हैं बदले में कर्जदार व्यक्ति इन बैंकों को एक अच्छी ब्याज दर देते हैं

 और यह बैंक अपने जमा करता ग्राहक को उनकी जमा राशि के ऊपर एक अच्छी ब्याज दर देते हैं यह ब्याज दर अलग-अलग बैंकों की अलग-अलग होती है 

 

बैंकों का इतिहास क्या है – What is  History of banks in Hindi 

दोस्तों ऐसा क्या आपने सुना होगा कि पुराने समय में व्यापारी किसी भी वस्तु को प्राप्त करने के लिए किसी वस्तु का प्रयोग करते थे अर्थात वस्तु विनियम का प्रयोग किया करते थे इसे इंग्लिश में Barter system कहा जाता है 

जैसे कि किसी  व्यक्ति को जमीन का टुकड़ा आया गाय एक कुछ भी अन्य पशु पक्षी चाहिए होते हैं तो वह उनके मालिक को उसके जरूरत के हिसाब से अनाज या कुछ और वस्तु देकर वह प्राप्त कर सकता था इसे वस्तु विनियम Barter system(बार्टर सिस्टम) कहते हैं 

 

Barter system(बार्टर सिस्टम)  क्या है : What is Barter system in Hindi 

दोस्तों जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके हो की Barter system(बार्टर सिस्टम)  वस्तु विनियम कहलाता है जिसमें  जरूरतमंद व्यापारी अपने जरूरत के हिसाब से वस्तुओं का आदान प्रदान करते हैं इसे ही Barter system(बार्टर सिस्टम)  कहा जाता है 

दोस्तों Barter system(बार्टर सिस्टम)  की शुरुआत आज से 2000 bc Assriya और बेबिलोनिया में हुई थी  

बाद में रोमन एंपायर और ग्रीक एंपायर के समय एक निश्चित ब्याज दर के हिसाब से लोन देने की परंपरा शुरू हुई इसमें दो विचारों को जोड़ा गया

  1. व्यक्ति के पैसों को जमा करना 
  2. किसी भी वस्तु के बदले पैसों के द्वारा लेनदेन 

इसी समय के बीच में भारत और चीन में भी पैसों का लेनदेन शुरू हुआ 

 लेकिन भारत में जो वर्तमान बैंक(Bank meaning in hindi) व्यवस्था देखने को मिलती है यह अंग्रेजी शासनकाल अर्थात ईस्ट इंडिया कंपनी के आगमन के पश्चात स्थापित हुआ था भारत में बैंकों का इतिहास लगभग 2 से 250  साल पुराना है

 

भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है 

दोस्तों भारत का सबसे बड़ा बैंक State Bank of india  है जोकि अंग्रेजों के शासन काल में स्थापित हुआ था और इसका विकास हुआ 

ईस्ट इंडिया कंपनी ने सबसे पहले 1809, Bank of Bangal,उसके बाद  1840,Bank of Bombay   और 1843  कें अंदर Bank of Madras की स्थापना की  अंत में इन तीनों बैंकों को एक करके  Imperial bank  का निर्माण किया आजादी के पश्चात इंपीरियल बैंक को State Bank Of India  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के रूप में बदल दिया गया 



बैंकों के प्रकार :- Bank kitne Prakar ke Hote Hai | Types of bank in Hindi

Bank kitne Prakar ke Hote Hai – दोस्तों भारत में बैंक अवस्था बहुत ही  विकासशील स्थिति में है बैंक कई प्रकार के होते हैं चलिए जानते हैं बैंकों के प्रकार : Types of bank in Hindi 

 

Scheduled bank Kya Hota Hai

Scheduled bank Kya Hota Hai दोस्तों शेड्यूल बैंक कैसा बैंक होता है जिसमें paid-Up-Capital कैपिटल अर्थात बैंक द्वारा प्रदत राशि 5  लाख रुपए से कम नहीं होना चाहिए और यह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को इस बात का आश्वासन देते हैं कि यह अपने कारोबार को अपने  जमा करता के हितों के हिसाब से चलाएंगे और ऐसा कोई कदम नहीं उठाएंगे जिससे इनका   अहित हो 

इनका रजिस्ट्रेशन Reserve Bank of India Act 1934 के अंतर्गत किया जाता है 


Commercial bank Kya Hota Hai

दोस्तों कमर्शियल बैंक कैसे बैंक्स होते हैं जोकि स्पेशल देश की अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखकर बनाए जाते हैं इसमें लोगों से उनकी बचत राशियों को जमा किया जाता है और उनकी जरूरत के हिसाब से लोन दिया जाता है उसके बदले यह है चार्ज वसूलते हैं 

यह छोटी-छोटी जमा राशियों को एकत्रित  करते हैं और आमजन को बहुत ही सरल बैंकिंग सुविधा प्रदान करते हैं जिसकी हर व्यक्ति की पहुंच बैंक तक बनी रहे इनका मार्केट कैपिटल बहुत ही ज्यादा है 

दोस्तों ऐसे कमर्शियल बैंकों को  मुख्य रूप से 4 वर्गों में  विभाजित किया गया है 

Public sector bank Kya Hota Hai

Public sector bank के अंतर्गत ऐसे ऐसे बैंक से आते हैं जो की पूरी तरह जनता के लिए उत्तरदाई होते हैं अर्थात जनता के लिए कार्य करते हैं अर्थात यह बैंक जनता के सहयोग के लिए उनके आर्थिक विकास के लिए स्थापित किए गए हैं

 भारत में  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI)  पब्लिक सेक्टर का सबसे बड़ा बैंक है इसका मार्केट कैपिटल लगभग 40 लाख करोड़ रुपए का है और यह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया विश्व के टॉप 50  बैंक्स में आता है 

भारत में अकाउंट ओपनिंग की दृष्टि से एसबीआई बैंक के अंदर सबसे ज्यादा अकाउंट है भारत के हर घर में इस बैंक का अकाउंट मिल जाएगा 

 

Private sector bank Kya Hota Hai

प्राइवेट सेक्टर बैंक के अंतर्गत ऐसे बैंक खाते हैं जो कि आरबीआई के अंतर्गत काम तो करते हैं लेकिन यह पब्लिक सेक्टर बैंक से बिल्कुल अलग होते हैं इनमें भी पब्लिक सेक्टर बैंक की तरह खाता खोला जाता है और जरूरतों को पूरा किया जाता है लेकिन

 प्राइवेट सेक्टर बैंक्स बड़े बड़े उद्योगों और बिजनेस के विस्तार के लिए लोन  प्रदान करते हैं  और उनसे एक अच्छा ब्याज दर वसूलते हैं 

 इन बैंकों का निर्माण देश की आर्थिक गतिविधियों एवं औद्योगिक विकास के लिए किया गया है 

Foreign bank Kya Hota Hai

एक फॉरेन बैंक उसे  कहां जाता है जिसका मुख्यालय किसी अन्य देश में हो जबकि उसके ब्रांचेज  कई छोटे-छोटे देशों में फैले होते हैं और उन्हें दो देशों का कानून मानना पड़ता है एक जहां पर उनका मुख्यालय होता है और दूसरा जहां उनके ब्रांच होते हैं

 भारत में मुख्य रूप से फॉरेन बैंक सिटी बैंक,HSBC बैंक है यह दोनों ही विदेशी बैंक हैं 

 

Regional rural bank (RRB) Kya  Hai

Regional rural bank भी एक Scheduled commercial  बैंक होते हैं इनका मुख्य उद्देश्य देश के निचले तबके के लोग जो कि बैंक की मुख्य सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं उनको बैंकिंग सर्विस  उपलब्ध कराना होता है

 ऐसे बैंकों की स्थापना भारत के उन ग्रामीण क्षेत्रों में की जाती है जहां के किसानों को बैंकिंग सर्विस की आवश्यकता होती है

 और एक छोटे वर्ग जैसे, मजदूर वर्ग, किसान वर्ग, और लघु व्यापारियों को ऋण के रूप में आर्थिक सहयोग प्रदान करती है और कम से कम ब्याज दर में 

 

Small finance Bank Kya Hota Hai

Small finance Bank kya hai -दोस्तों स्मॉल फाइनेंस बैंक की स्थापना देश के मध्यमवर्गीय उद्योगों औरछोटे लघु किसानों और मध्यम व्यापारियों को ऋण उपलब्ध कराने और उनकी उन्नति में सहयोग करने हेतु की गई थी  इनका कार्य क्षेत्र एक निश्चित सीमा तक होता है 

स्मॉल फाइनेंस बैंक देश के लघु उद्योगों,  छोटे किसानो,  छोटे व्यापारियों, और पर्सनल एजुकेशन लोन के रूप में आर्थिक सहयोग देते हैं ताकि वह अपना विकास कर सके 

स्मॉल फाइनेंस बैंक का लाइसेंस Section 22 (1) Of Banking Regulation Act 1949  के तहत  प्रदान किया जाता है और उसे कुछ जरूरी शर्तों को पूरा करना होता है उसके बाद उसे लाइसेंस मिल जाता है 

Cooperative banks Kya Hota Hai

दोस्तों को ऑपरेटिव बैंक से एक छोटे सरकारी  और सहकारी बैंक होते हैं जोकि ग्रामीण और शहरी जरूरतमंद व्यक्ति को ऋण उपलब्ध करवाते हैं और छोटी मोटी आवश्यकता हेतु जैसे कृषि ऋण और व्यापारिक ऋण उपलब्ध करवाते हैं 

कोऑपरेटिव बैंक्स अपना सारा काम रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की देखरेख में करते हैंइनका रजिस्ट्रेशन बैंकिंग रेगुलेशन एक्ट 1949 के अंतर्गत होता है 

Payment Bank Kya Hota Hai

Payment Bank kya hai in Hindi – पेमेंट बैंक बैंकों का एक बिल्कुल ही नया मॉडल है यह भारत की वर्तमान आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए बनाया गया है जब से भारत में  ऑनलाइन ट्रांजैक्शन ओं में वृद्धि हुई है तब से इन पेमेंट  बैंक की आवश्यकता बनी है

 यह बैंक ग्राहक को अपने अकाउंट के अंदर ₹200000 तक रखने की छूट देते हैं लेकिन यह बैंक किसी को लोन नहीं दे सकते हैं सिर्फ सामान्य बैंकिंग सर्विस ही देते हैं पेमेंट बैंक के बारे में ज्यादा जानने के लिए यह पढ़ें 


Exchange banks Kya Hota Hai

Exchange Bank kya hai in Hindi- दोस्तों एक्सचेंज बैंक के अंतर्गत ऐसे बैंक से आते हैं जो कि विदेश से आने वाले हैं विदेशी मुद्रा का भारतीय मुद्रा में एक्सचेंज करते हैं अर्थात बदलाव करते हैं 

 ऐसे बैंकों का प्रयोग मुख्य रूप से वह प्रवासी भारतीय करते हैं जो कि विदेशों में रहकर कमाई करते हैं और अपने परिवार के भरण-पोषण के लिए भारत में पैसा भेजते हैं 

 

भारत का सबसे पहला Public sector bank कौन सा  है 

दोस्तों भारत का सबसे पहला पब्लिक सेक्टर बैंक  Allahabad Bank है जो कि  आमजन के लिए उपलब्ध था  

 

 

बैंकों की विशेषताएं क्या होती है – Features of banks in Hindi 

चलिए दोस्तों आप जानते हैं कि बैंक की विशेषताएं क्या होती है और बैंक में विशेष क्या होता है

  •  दोस्तों बैंक कोई भी एक फर्म हो सकती है कंपनी हो सकती है या अपने आप में एक इंडिविजुअल हो सकता है 
  • दोस्तों बैंक एक लाभ के सिद्धांत पर कार्य करता है जैसे कि वह हमारे जमा राशि से ही अच्छा लाभ बनाता है और बदले में हमें भी कुछ हिस्सा देता है 
  • बैंक अक्षर बड़े-बड़े उद्योगपतियों और औद्योगिक क्षेत्रों को लोन देता है उनसे एक अच्छी ब्याज दर वसूल ता है और इसी लेन-देन के द्वारा उसका बिजनेस चलता है 
  • बैंक्स अक्सर कई सारे आम उपयोगकर्ता को भी एडवांस में पैसे देता है अर्थात क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करवाता है और एक निश्चित समय के अंदर हमें से भरना होता है 
  • बैंक से सामान्य जनता को  उनकी बचत राशि जमा करने और उनकी जमा राशि को निकालने की सुविधा भी देता है
  •  एक बैंक हमेशा अपने नाम के आगे बैंक अवश्य लगाता है जैसे कि पंजाब नेशनल बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया इत्यादि
  • एक बैंक हमेशा ही कई क्षेत्रों में अपने बिजनेस को विस्तार  करने के बारे में सोचता है जैसे कि फाइनेंस, और लोन के क्षेत्र में 
  • एक बैंक की मुख्य विशेषता होती है कि वह हमारे बचत के पैसे को बहुत ही अच्छे तरीके से संभाल कर रखता है और उनकी पूरी सुरक्षा करता है और उनकी पूरी गारंटी लेता है 

 

भारत में ATM स्थापित करने वाला सबसे पहला बैंक कौनसा है :- First ATM machine

दोस्तों भारत में अपने ATM को स्थापित करने वाला सबसे पहला बैंक शंघाई कॉरपोरेशन बैंक था जिसने मुंबई के अंदर अपना पहला ATM स्थापित किया था 

 

बैंक के कार्य क्या है : What is work of a bank in Hindi 

दोस्तों वैसे तो बैंक कई सारे कार्य करता है  लेकिन इसके कार्यों को दो मुख्य रूप में विभाजित किया गया है 

  • Primary function 
  • Secondary function 

Banks primary function  of in Hindi 

दोस्तों बैंक  के प्राइमरी फंक्शन  अर्थात  बैंक के  प्राथमिक कार्य के अंतर्गत दो कार्य मुख्य रूप से आते हैं

 

 बचत राशि को जमा करना 

  दोस्तों एक बैंक का मुख्य कार्य होता है कि  कोई भी व्यक्ति जो कि अपनी राशि को बैंक में जमा करवाना चाहता है उसका अकाउंट खोलकर उसकी खुद की राशि को अकाउंट के अंदर जमा करना अर्थात डिपाजिट करना है और समय आने पर उसको निकाल कर देना उसके बदले में उससे कुछ चार्ज करता है

 दोस्तों यह जमा राशि कई प्रकार की होती है 

Saving deposit 

current deposit 

fixed deposit 

Recurrent deposit 

उपरोक्त वर्णन इन जमा राशियों में अपना अलग अलग अर्थ होता है जैसे ही

 Saving deposit के अंतर्गत सामान्य लोग अपनी सामान्य पचरासी को बैंक के अंदर जमा कराते हैं उसके बदले ब्याज दर पाते हैं एक निश्चित राशि तक ही लेन देन कर सकते हैं 

current deposit इसके अंतर्गत वह व्यक्ति डिपॉजिट करता है जिसको रोजाना अपने खाते के द्वारा लेनदेन करना होता है इस जमा राशि पर कोई भी ब्याज नहीं मिलता है और इस अकाउंट से हम इतना भी नहीं कर सकते हैं कोई रोक नहीं होती है

 

fixed deposit इसके अंतर्गत जमा करता एक पिक्स राशि को एक निश्चित समय के लिए बैंक में डिपॉजिट करता है अर्थात जमा करता है और बैंक अपने सबसे ऊंची ब्याज दर के हिसाब से इनको इंटरेस्ट अर्थात ब्याज देता है 

यदि आपके पास में एक बड़ी राशि पड़ी हुई है और आप उससे एक अच्छा पैसिव इनकम कमाना चाहते हो तो आप इसकी फिक्स डिपाजिट करवा सकते हो 

 

LOAN प्रदान करना  

 बैंक का एक महत्वपूर्ण काम किसी भी व्यक्ति फर्म अथवा कंपनी को एक निश्चित समय के लिए लोन प्रदान करना होता है यह लोग किसी भी एक महत्वपूर्ण उद्देश्य की पूर्ति के लिए दिया जाता है 

इसके बदले यह बैंक उन कंपनियों से एक निश्चित दर की ब्याज राशि वसूलता है वह ब्याज कितना ही हो सकता है  

 बैंक द्वारा दिए गए लोन को न चुकाने की स्थिति में यह बैंक उनकी संपत्तियों को कुर्क कर लेता है 

बैंक के Secondary function या अन्य कार्य 

दोस्तों बैंक के अन्य कार्य के अंतर्गत कई कार्य आते हैं जैसे कि जैसे कि इंश्योरेंस में सिर्फ फंड्स और शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करना  चलिए जानते हैं इन्हीं बारे में 

दोस्तों बैंक अपने ग्राहकों को गोल्ड कॉइन म्युचुअल फंड्स और इंश्योरेंस सर्विस भी प्रोवाइड करवाता है अर्थात उपलब्ध करवाता है

 यह अपने ग्राहकों को जोकि शेयर मार्केट में रुचि रखते हैं उनके लिए डीमैट अकाउंट उपलब्ध करवाना और उनको एक ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाता है

 शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट के लिए यह उनको एक ट्रेडिंग अकाउंट भी उपलब्ध करवाता है जिसके माध्यम से वे इसके बैंक अकाउंट का प्रयोग उस ट्रेडिंग अकाउंट में कर सकते हैं

बैंक फॉरेक्स एक्सचेंज विदेशी मुद्रा विनियम के अंदर भी अपना कार्य करता है और वहां से भी कुछ मात्रा में धन उपार्जन करता है 

बैंक आजकल हर ग्राहक को ऑनलाइन नेट बैंकिंग की सुविधा भी देते हैं जिसके माध्यम से वह ग्राहक अपने अकाउंट को खुद ही  मैनेज कर लेता है और अपनी धनराशि को संभालता है

 इसी नेट बैंकिंग और यूपीआई आईडी के चलते यह यूटिलिटी बिल भरना वाटर बिल भरना और ऑनलाइन पेमेंट  करना मनी ट्रांजैक्शन इत्यादि जैसे कार्य बहुत ही आसान हो चुके हैं 

Conclusion

दोस्तों अभी तक आपने जाना है कि Bank kya hai ( What is bank in Hindi ) बैंक कितने प्रकार के होते हैं और What is work of a bank in Hindi,Feature of a banks and benefits ,

दोस्तों आशा है कि आपको इस जानकारी से बैंकों के बारे में समझने में मदद मिली होगी यदि आप इससे संबंधित कुछ भी अपनी राय रखना चाहते हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट अवश्य करें दोस्तों आशा करता हूं कि आप  इस लेख को अपने दोस्तों में और नजदीकी रिश्तेदारों में अपने ग्रुप में अवश्य शेयर करेंगे ताकि उनको भी यह महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हो 

About Dhirendra singh

मेरा नाम Dhirendra Singh Bisht है और मैं इस Technet ME फाउंडर और owner हूं , दोस्तों मैंने अभी अपनी डिग्री पूरी की है और मुझे लोगों की समस्याओं का हल करना अच्छा लगता है और मुझे लोगों को नई नई चीजें सिखाने में और Technology Business Banking ,Marketing के बारे में अच्छी जानकारी है

2 thoughts on “Bank kya hai in Hindi ? और Bank के कार्यों के बारे में जानकारी”

Leave a Comment